30.8 C
Jabalpur
May 18, 2022
Seetimes
National

झारखंड में आईएएस पूजा सिंघल पर ईडी की कार्रवाई को लेकर पक्ष-विपक्ष में छिड़ी सियासी जंग

रांची, 12 मई (आईएएनएस)| झारखंड की सीनियर आईएएस पूजा सिंघल के खिलाफ ईडी की कार्रवाई को लेकर राजनीतिक दलों के बीच जुबानी जंग तेज है। राज्य में झामुमो-कांग्रेस-राजद के सत्ताधारी गठबंधन और प्रमुख विपक्षी पार्टी भाजपा के नेता एक-दूसरे को आरोपों के कठघरे में खड़ा कर रहे हैं।

राज्य के मुख्यमंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन का कहना है कि पूजा सिंघल के खिलाफ भ्रष्टाचार के जिन मामलों में ईडी की कार्रवाई हुई है, वह पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के कार्यकाल के हैं। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने ही पूजा सिंघल को भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों में क्लीन चिट दी थी। हमारी सरकार जांच करायेगी कि उन्हें क्लीन चिट कैसे मिला और इसके पीछे कौन लोग थे। जितने भी लोग इस प्रकरण में संलिप्त होंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने प्रेस कांफ्रेंस कर हेमंत सोरेन के आरोप का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि कहा कि अगर मेरे कार्यकाल में घोटाला हुआ और उस समय पूजा सिंघल को बचाया गया तो सरकार जांच क्यों नहीं कराती है? रघुवर दास ने कहा कि उनकी सरकार में अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी बनी थी, जो पूजा सिंघल पर लगे आरोपों की जांच कर रही थी। तब तक उन्हें पूजा सिंघल के खिलाफ साक्ष्य नहीं मिला होगा, इसलिए क्लीन चिट दी गयी होगी। इसमें मंत्री और मुख्यमंत्री की कोई भूमिका नहीं थी। अगर इस मामले को लेकर सरकार बहुत चिंतित है, तो 24 घंटे के अंदर सीबीआई को मामला सौंप दे।

इधर सांसद और झारखंड प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा है कि आईएएस पूजा सिंघल के खिलाफ ईडी की कार्रवाई पांच दिनों से चल रही है, लेकिन इसके बावजूद सरकार ने उनके खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई नहीं की। पूजा सिंघल ने राज्य में खान एवं उद्योग विभाग में सचिव के पद पर रहते हुए भ्रष्टाचार किया और उन्हें सरकार का समर्थन मिलता रहा। यह बेहद शर्मनाक है।

इस प्रकरण में भाजपा के सांसद निशिकांत दुबे सबसे ज्यादा मुखर हैं। उन्होंने पिछले पांच दिनों में पूजा सिंघल प्रकरण को लेकर एक दर्जन से ज्यादा ट्वीट किये हैं। उन्होंने सीधे-सीधे हेमंत सोरेन पर हमला बोला और कहा कि अपने कर्मों की वजह से राज्य की सत्ता से उनकी विदाई तय है।

झामुमो के केंद्रीय प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि जैसे ही पूजा सिंघल के ठिकानों पर ईडी की कार्रवाई शुरू हुई, भाजपा के दो पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और बाबूलाल मरांडी गायब हो गये। हालांकि इस प्रेस कांफ्रेंस के अगले ही दिन बाबूलाल मरांडी ने सामने आकर कहा कि वो कहीं गये नहीं हैं, लेकिन झामुमो की बेचैनी की वजह क्या है, यह जनता बखूबी समझती है।

अन्य ख़बरें

कान्स के शुभारंभ पर सब्यसाची के पहनावे में जूरी ड्यूटी में शामिल हुईं दीपिका

Newsdesk

कांग्रेस ने गोवा में पंचायत चुनाव स्थगित करने की मांग की

Newsdesk

सुप्रीम कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद में मिले शिवलिंग की सुरक्षा का आदेश दिया, मुस्लिमों के प्रवेश पर लगी रोक हटाई

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy