27.5 C
Jabalpur
August 10, 2022
Seetimes
अंतराष्ट्रीय

दुनिया के देशोंसे गहरे समुद्र में खनन पर तत्काल रोक लगाने की अपील

लिस्बन, 28 जून (आईएएनएस)| संयुक्त राष्ट्र महासागर सम्मेलन शुरू हो गया है और विश्व का ध्यान महासागर की ओर मोड़ने का प्रयास जारी है। गहरे समुद्र में खनन उद्योग चलाए जाने का राजनीतिक प्रतिरोध जोर पकड़ रहा है। पलाऊ के राष्ट्रपति, सुरंगेल व्हिप्स, लिस्बन में एक आधिकारिक सम्मेलन पक्ष कार्यक्रम में डीप सी कंजर्वेशन गठबंधन और डब्ल्यूडब्ल्यूएफ में शामिल हुए। उन्होंने अपनी सरकार की ओर से गहरे समुद्र में खनन पर तत्काल रोक लगाने का आह्वान किया।

राष्ट्रपति ने गहरे समुद्र में खनन अधिस्थगन का समर्थन करने वाले देशों के नए गठबंधन का शुभारंभ किया। समुद्र विज्ञानी और समुद्री जीवविज्ञानी, सिल्विया अर्ले, और डेबी नगावेरा-पैकर, सह-नेता ते पाटी माओरी और संसद सदस्य, आओटेरोआ/न्यूजीलैंड, पलाऊ के राष्ट्रपति के साथ इस कार्यक्रम में शामिल हुए, ताकि गहरे समुद्र में विनाशकारी खनन की स्थिति से अवगत हो सकें।

राष्ट्रपति व्हिप्स ने कहा, “हम सभी को कुर्बानी देनी होगी और अपने ग्रह व अपने लोगों के लिए अधिक से अधिक अच्छा हासिल करने के लिए राष्ट्रों के रूप में एक साथ आना होगा। हम जानते हैं कि गहरे समुद्र में खनन का मतलब हमारे समुद्री आवास की अखंडता से समझौता करना है। इससे समुद्री जैव विविधता प्रभावित होती है।”

डीप सी कंजर्वेशन के निदेशक सियान ओवेन ने पलाऊ के आह्वान की सराहना करते हुए कहा, “हम इस मुद्दे पर राष्ट्रपति व्हिप्स के नेतृत्व के साहस और अखंडता का स्वागत करते हैं। पलाऊ ने वैश्विक महासागर और ग्रह के स्वास्थ्य के लिए एक स्टैंड लिया है।”

“हमें उम्मीद है कि अन्य सरकारें पर्यावरणीय गिरावट को उलटने के लिए अपनी साहसिक प्रतिबद्धताओं की दिशा में विशिष्ट कार्रवाई में शामिल होंगी।”

सोमवार को सम्मेलन की कार्यवाही में दुनियाभर के सांसद गहरे समुद्र में खनन से जुड़े जोखिमों का पता लगाने के लिए एकत्रित हुए। इनमें फ्रांसीसी एमईपी मैरी टूसेंट शामिल थे, जिन्होंने डीप-सी माइनिंग पर अंतर्राष्ट्रीय सांसदों की कॉल फॉर ए मोरेटोरियम लॉन्च किया था।

अन्य ख़बरें

श्रीलंका : प्रधानमंत्री ने सेना को दिया व्यवस्था बहाल करने का आदेश

Newsdesk

पाक में 16 साल की हिंदू लड़की का अपहरण, घर्मांतरण करवाकर जबरन कराया निकाह

Newsdesk

कनाडा में तोड़ी गई महात्मा गांधी की प्रतिमा

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy