26.5 C
Jabalpur
December 3, 2022
सी टाइम्स
व्यापार

आईडीबीआई बैंक ने स्थापना दिवस पर शुरू की विभिन्न योजनाएं

मुंबई ,06 अक्टूबर। निजी क्षेत्र के आईडीबीआई बैंक ने अपने 59वें स्थापना दिवस के अवसर पर ग्राहक केंद्रित और लगातार विकसित हो रहे वित्तीय पारिस्थितिकी तंत्र की जरूरतों को पूरा करने की दिशा में कई योजनाओं की शुरुआत की।
आईडीबीआई ने एक बयान में कहा कि बैंक ने ग्राहकों और व्यापार में शामिल गैर-ग्राहकों के लिए ओपन नेटवर्क डिजिटल कॉमर्स (ओएनडीसी) में प्रवेश की घोषणा की। ओएनडीसी एक खुला नेटवर्क है जो एमएसएमई और अन्य खुदरा व्यापारियों को अपने डिजिटल स्टोर स्थापित करने और डिजिटल वाणिज्य लहर का लाभ उठाने में मदद करेगा। आईडीबीआई बैंक ओएनडीसी सेलर्स ऐप पर व्यापारियों को इस प्लेटफॉर्म पर आने के लिए सक्षम बनाएगा।
बैंक ने पूर्ण डिजिटल और बिना कागज के बैंक के कामकाज को सक्षम करने के लिए ऋण आवेदन की जांच के लिए अंतर्निहित क्षमताओं के साथ किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) ऋण प्रक्रिया के डिजिटलीकरण के लिए डिजीकेसीसी प्लेटफॉर्म शुरू किया। केसीसी ऋणों के डिजिटलीकरण के लिए यह अपनी तरह की पहली पहल है, अभी इसे महाराष्ट्र में शुरू किया गया है,धीरे-धीरे इसे उन राज्यों में विस्तारित किया जाएगा, जहां भूमि अभिलेखों के डिजिटलीकरण को सुव्यवस्थित किया जा चुका है।
बैंक ने वेयर हाउस रसीदों पर ऋण के लिए एक संपूर्ण एकीकृत डिजिटल समाधान के लिए डब्ल्यूपीएस (वेयरहाउस रसीद प्रोसेसिंग सिस्टम) भी लॉन्च किया।
आईडीबीआई बैंक ने एक रेपो दर से जुड़ी सावधि जमा योजना भी शुरू की है। बैंक ने 10 करोड़ रुपये तक के अवरुद्ध ऋण के एकमुश्त निपटान के माध्यम से अपने वसूली प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए आकर्षक शर्तों पर अमृत महोत्सव ऋण भुगतान योजना की एक विशेष योजना की घोषणा की। इसके साथ ही बैंक ने अन्य विभिन्न योजनाओं का भी एलान किया।

अन्य ख़बरें

नवंबर में बढ़ी सोने की कीमत, दिसंबर में भी रहेगी तेजी : विशेषज्ञ

Newsdesk

अब देहरादून का ‘पलटन बाजार’ जल्द होगा ‘भगवामय’

Newsdesk

नवंबर में जीएसटी कलेक्शन पिछले साल की तुलना में 11 फीसदी बढ़ कर 1,45,867 करोड हुआ

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy