17.6 C
Jabalpur
December 10, 2023
सी टाइम्स
राष्ट्रीय हेडलाइंस

जम्मू-कश्मीर की अंजी नदी पर बनेगा देश का पहला केबल रेल पुल

नई दिल्ली, 14 जनवरी | देश को पहला केबल रेल पुल जल्द मिलने वाला है। इसका निर्माण जम्मू-कश्मीर की अंजी नदी पर हो रहा है। रेलवे के अनुसार, इस साल के अंत तक अंजी खड्ड पुल का जो जाएगा। यह पुल इंजीनियरिंग का अद्भुत नमूना है, जिसे बनाने का काम अपने अंतिम चरण में है। ये पुल कटरा को रियासी से जोड़ने का काम करेगा। अंजी नदी के ऊपर रियासी जिले में स्थित, पुल चुनौतीपूर्ण उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक का एक हिस्सा है, जहां रेल अधिक ऊंचाई पर हिमालय से होकर गुजरती हैं।

रेल मंत्रालय ने शनिवार को ट्वीट कर कहा, “अंजी खड्ड पुल : नए भारत की नई ऊंचाइयों तक पहुंचने की लगातार खोज का एक प्रतिबिंब।”

रेल के अनुसार इस पुल की लंबाई 473.25 मीटर है, जो नदी तल से करीब 331 मीटर की ऊंचाई पर बना है। पुल को बनाते वक्त इस बात का ध्यान में रखा गया है कि यह भारी तूफानों से निपट सके। इसे 96 केबलों का सपोर्ट दिया गया है। इसे बनाने में बेहद एडवांस तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है।

इस ब्रिज को बनाने की जिम्मेदारी कोंकण रेलवे कार्पोरेशन को सौंपी गई है। उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक परियोजना को कोंकण रेलवे कार्पोरेशन लिमिटेड विकसित कर रहा है। जिस जगह पर ये पुल बनाया गया है, उस स्थान का भू-विज्ञान काफी जटिल है। ऐसे में अत्यधिक टूटी हुई और संयुक्त चट्टानों के बीच इसका निर्माण किया गया है। जानकारी के अनुसार, इसे बनाने में लगभग 28000 करोड़ रुपये की लागत आई है।

ये ऐसा जटिल क्षेत्र है, जहां चिनाब नदी के पार बनाए जा रहे पुल के समान एक आर्च ब्रिज का निर्माण करना लगभग असंभव सा है। अंजी खड्ड पुल ढलान को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। अनोखी, अडवांस तकनीक और उपकरणों की मदद से बनाए जा रहे इस पुल में पंप कंक्रीटिंग सिस्टम का इस्तेमाल शामिल है।

अन्य ख़बरें

राम मंदिर तक बन रहे फोर लेन का 90 प्रतिशत काम हुआ पूरा

Newsdesk

इटली के एक अस्पताल में आग लगी, तीन लोगों की मौत

Newsdesk

फेसबुक पर पुलिस जवान को हुआ प्यार, प्रेमिका यूपी से पहुंची बिहार, आईपीएस अधिकारी ने मंदिर में कराई शादी

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy