Seetimes
National

वैक्सीन की आपूर्ति सबसे बड़ी समस्या : मुख्यमंत्री केजरीवाल

नई दिल्ली, 5 मई (आईएएनएस)| मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को राजेंद्र नगर में राधा स्वामी सत्संग ब्यास वैक्सीनेशन सेंटर का दौरा किया। वैक्सीन लगवाने के लिए बड़ी संख्या में युवा आगे आ रहे हैं। लेकिन दिल्ली में अभी और वैक्सीन की आपूर्ति की जरूरत है। दिल्ली सरकार का कहना है कि यदि पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध कराई जाती है तीन महीने में पूरी दिल्ली का वैक्सीनेशन हो सकता है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आने वाले समय में एक ही सबसे बड़ी समस्या आने वाली है कि हमें वैक्सीन की आपूर्ति बहुत बड़े स्तर पर चाहिए। अभी बहुत कम वैक्सीन दिल्ली को मिली है। अब हमने बुनियादी ढांचा को स्थापित कर लिया है। अब हम चाहे तो इसे 24 घंटे में बढ़ा सकते हैं और बहुत बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन कर सकते हैं, लेकिन वैक्सीन के उत्पादन की कमी है।

मुख्यमंत्री ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि आप सभी लोग देख ही रहे हैं कि दिल्ली में ऑक्सीजन की काफी कमी है। इस कोरोना की बीमारी में सबसे महत्वपूर्ण ऑक्सीजन ही है। जब ऑक्सीजन स्तर नीचे जाता है, तो पहले कम ऑक्सीजन देते हैं। इसके बाद फिर जरूरत के अनुसार ज्यादा ऑक्सीजन देनी पड़ती है। हम पिछले कई दिनों से ऑक्सीजन से जूझ रहे हैं और हम लोग केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। केंद्र सरकार को पूरे देश का भी देखना पड़ता है।

हम केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। हमारी पूरी कोशिश है कि दिल्ली को जितनी ऑक्सीजन चाहिए, उतनी ऑक्सीजन मिले। इसमें हमें सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट का भी काफी सहयोग मिला है। मैं उम्मीद करता हूं कि आने वाले समय में ऑक्सीजन की दिक्कत दूर होनी चाहिए।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने छोटे अस्पतालों को ऑक्सीजन की हो रही किल्लत पर कहा कि मैं यह समझ सकता हूं। आज ऑक्सीजन का जो बुलेटिन जारी हुआ, उसके अनुसार दिल्ली के 43 जगहों से एसओएस कॉल आए थे। इसके लिए एक वॉर रूम बना हुआ है। उसमें कोशिश करते हैं कि कहीं ऑक्सीजन की वजह से किसी की मौत नहीं होनी चाहिए। एक-दो जगहों पर इस तरह की घटनाएं हुईं, जहां पर ऑक्सीजन की दिक्कत हुई थी। लेकिन हमारी पूरी कोशिश है कि समय पर ऑक्सीजन पहुंच जाए, ताकि लोगों को कोई दिक्कत न होने पाए।

मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन के मसले पर कहा कि जब तक जरूरत पड़ेगी, तभी तक लॉकडाउन रहेगा। अभी तो जनता ही मांग कर रही है कि लॉकडाउन लगना चाहिए। जनता खुद देख रही है कि यह कितनी बड़ी मुसीबत है। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि यह बहुत बड़ी महामारी है। इसलिए जो भी स्वास्थ्य ढांचा है, वह कहीं न कहीं कम पड़ता जा रहा है। आने वाले समय में हम काफी बड़े स्तर पर ऑक्सीजन बेड बढ़ाना चाहते हैं। कई सारे ऑक्सीजन सिलेंडर हम लाने की कोशिश कर रहे हैं। कंसंट्रेटर लाने की कोशिश कर रहे हैं और अगले कुछ दिनों के अंदर हम ऑक्सीजन बेड बहुत ज्यादा बढ़ा देंगे।

अन्य ख़बरें

नरेंद्र मोदी हैं पक्के आंबेडकरवादी, 2024 में फिर बनेंगे प्रधानमंत्री : केंद्रीय मंत्री आठवले

Newsdesk

अन्नाद्रमुक ने शशिकला से बात करने पर 17 नेताओं को किया निष्कासित

Newsdesk

जम्मू-कश्मीर में कोरोना के 599 नए मामले, 9 की मौत

Newsdesk

Leave a Reply