Seetimes
National

सिखों ने कोरोना मरीजों के लिए मुफ्त में वैन सेवा शुरु की

लखनऊ, 6 मई (आईएएनएस)| लखनऊ में सिख समुदाय एक बार फिर इस अवसर पर आगे आया है।

फूड लंगर और मास्क लंगर के आयोजन के बाद, लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने गुरुद्वारा सदर और दो शहर स्थित गैर सरकारी संगठनों, उम्मेद और इन्सानियत फाउंडेशन के साथ मिलकर नागरिकों के लिए एक मुफ्त हार्स सेवा शुरू की है।

गुरुद्वारा सदर में एक प्रार्थना सेवा के बाद बुधवार को ये पहल उनके लिए शुरु की है जिन कोविड मरीजों के मरने के बाद उनका परिवार शवों का दाह संस्कार करने में संकोच करता है।

शुरू करने के लिए, दो हार्स वैन उपलब्ध हैं जो आवश्यकता के अनुसार शहर भर के परिवारों की मदद करेंगी।

गुरुद्वारा सदर (गुरुद्वारा श्री गुरु नानक सत्संग सभा) के अध्यक्ष हरपाल सिंह जग्गी ने कहा, “सेवा नि: शुल्क है और वैन आवश्यक सुरक्षा उपकरण जैसे पीपीई किट, मास्क और सैनिटाइजर के साथ स्वयंसेवकों की सुरक्षा के साथ साथ मृतक के परिवारों के लिए सुसज्जित हैं। जैसे ही हमें एक मरीज के मरने की सूचना मिलती है। हम गंतव्य तक पहुंचते हैं, मृतक और परिवार के सदस्यों को ले जाते हैं जो हमारे साथ जुड़ने के लिए तैयार होते हैं और श्मशान घाट के लिए रवाना होते हैं, जहां हम अंतिम संस्कार करने में परिवारों की मदद करते हैं। परिवार के किसी सदस्य के नहीं होने पर, हम अंतिम संस्कार करते हैं। “

सेवा सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक उपलब्ध रहेगी। एलजीपीसी के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह बग्गा ने कहा, “विभिन्न धर्मों के स्वयंसेवक महामारी में जनता की सेवा करने के लिए हमारे साथ जुड़े हैं।”

हाल के हफ्तों में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जहां परिवारों ने कोविड के शव को मोर्चरी में छोड़ दिया है और उनका अंतिम संस्कार नहीं किया।

हाल ही में, एक पत्रकार की मृत्यु हो गई और उसके परिवार ने शव का दावा नहीं किया जिसके बाद पुलिस के लोगों ने दाह संस्कार किया।

ज्यादातर लोग कोविड के शवों पर दावा करने से डरते हैं क्योंकि उन्हें डर होता है कि वे भी संक्रमित हो सकते हैं।

अन्य ख़बरें

नीतीश ने ‘कर दिखाएगा बिहार’ का किया अगाज, 6 महीने में 6 करोड़ लगाए जाएंगे टीके

Newsdesk

एक दिन में रिकॉर्डतोड़ वैक्सीनेशन पर प्रधानमंत्री बोले : वेल डन इंडिया

Newsdesk

दिल्ली में 4 नए सरकारी स्कूलों का निर्माण, जुलाई तक बनेंगे नए क्लासरूम

Newsdesk

Leave a Reply