Seetimes
Business

आम उत्पादक फिर से कोरोना कर्फ्यू की चपेट में, नहीं मिल रहे खरीदार

लखनऊ, 17 मई (आईएएनएस)| उत्तर प्रदेश के मलिहाबाद के आम उत्पादकों को लगातार दूसरे साल खरीदारों की भारी कमी का सामना करना पड़ रहा है। मलिहाबाद में उगाए जाने वाले आम की प्रसिद्ध दशहरी किस्म मई के अंत तक बाजार में आने के लिए तैयार है, लेकिन लंबे समय तक कोरोना कर्फ्यू खरीदारों को दूर रखा है। अखिल भारतीय आम उत्पादक संघ के अध्यक्ष इंसराम अली ने कहा कि आम की फसल के लिए अब तक मौसम अनुकूल बना हुआ है।

उन्होंने कहा, “अनुकूल तापमान, गरज की कमी और छिटपुट बारिश ने फसल को फलने-फूलने में मदद की है। हमें उम्मीद है कि अगले 10 दिनों में दशहरी आम तैयार हो जाएगा।”

हालांकि, उन्होंने कहा, कर्फ्यू का समय आम उत्पादकों के लिए मुसीबत बना हुआ है।

अली ने कहा, “यह वह समय है जब फसल को अतिरिक्त देखभाल की जरूरत होती है, लेकिन महामारी ने लोगों की आवाजाही को प्रतिबंधित कर दिया है और हम श्रम की कमी का सामना कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “इस समय तक हमें ऐसे ठेकेदार मिल जाते थे जो हमसे फसल खरीदकर बाजार में बेचते थे। लेकिन 70 प्रतिशत से अधिक बाग अभी भी खरीदारों की प्रतीक्षा कर रहे हैं।”

“कर्फ्यू के कारण मंडियां बंद हैं और आमों की शेल्फ लाइफ लंबी नहीं होती है। यदि प्रतिबंध जारी रहे, तो अधिकांश लोगों को दशहरी का स्वाद नहीं मिल पाएगा। इसके अलावा, यदि एक अवधि से अधिक समय तक संग्रहीत किया जाता है तो फल अपना स्वाद और सुगंध खो सकता है।”

पिछले साल भी मई में लॉकडाउन के कारण आम की ज्यादातर फसल बाजार में नहीं पहुंच पाई थी।

अन्य ख़बरें

नौकरी की उपलब्धता को लेकर ज्यादा चिंतित हैं भारतीय कामकाजी महिलाएं : लिंक्डइन

Newsdesk

ईंधन की कीमतों में फिर बढ़ोतरी, देश भर में पेट्रोल शतक के निशान के करीब

Newsdesk

भारत में 5जी नेटवर्क सॉल्यूशंस के लिए एयरटेल और टाटा समूह ने मिलाया हाथ

Newsdesk

Leave a Reply