Seetimes
Health & Science National

युवाओं को वैक्सीन लगाने में यूपी सबसे आगे

लखनऊ, 23 मई (आईएएनएस)| उत्तर प्रदेश सबसे ज्यादा आबादी वाला राज्य होने के बावजूद भी सबसे ज्यादा युवाओं को टीका लगाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है।

1 मई से जब 18-44 की श्रेणी के लिए पंजीकरण शुरू हुआ, तब से राज्य में लगभग दस लाख युवा टीका ले चुके हैं। वर्तमान में यह अभियान राज्य के 23 जिलों में चल रहा है।

सरकार के प्रवक्ता के अनुसार, ” 18 प्लस के लिए टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से इस श्रेणी में टीकाकरण की यह सबसे ज्यादा संख्या है।”

उल्लेखनीय है कि नए कोविड वेरिएंट द्वारा संचालित घातक वायरस युवा आबादी को ज्यादा प्रभावित कर रहा है।

तीसरी लहर की आशंका के साथ, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अभियान का विस्तार करने और 10 साल से कम उम्र के बच्चों के माता-पिता को जल्द से जल्द टीकाकरण करने की योजना बना रहे हैं।

प्रवक्ता ने कहा, “कोरोना की तीसरी लहर आने से पहले हम 10 साल से कम उम्र के सभी बच्चों के माता-पिता को वैक्सीन की खुराक देकर सुरक्षा मुहैया कराने की व्यवस्था कर रहे हैं।”

कोविड टीकाकरण में आगे की भूमिका निभाते हुए, राज्य ने अब तक टीके की 1,62,16,379 खुराकें दी हैं।

इनमें से 1,28,74,451 ने अपनी पहली खुराक प्राप्त कर ली है और लगभग 33,41,928 को वैक्सीन की दूसरी खुराक मिल गई है। मुख्यमंत्री लगातार राज्य में टीकाकरण अभियान को गति देने के लिए काम कर रहे हैं।

इस बीच, मुख्यमंत्री, जो शनिवार को कानपुर में थे, उन्होंने कहा कि उन्होंने सभी अधिकारियों को पुनर्निर्माण, जीर्णोद्धार, सभी आधुनिक प्रकार के उपकरण उपलब्ध कराने और बच्चों के लिए एक नगर निगम अस्पताल को फिर से शुरू करने का निर्देश दिया था, जो पिछले वर्षों से बंद है।

उन्होंने आगे कहा कि हर मेडिकल कॉलेज को 100-आईसीयू बाल चिकित्सा बेड, 100 बेड (नियोनेटल इंटेंसिव केयर यूनिट) एनआईसीयू के साथ ऑक्सीजन, 20-25 एनआईसीयू बेड जिला अस्पतालों में और कुछ सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) ग्रामीण क्षेत्रों में भी तैयार करना चाहिए। तीसरे चरण की तैयारी शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का लक्ष्य दूसरी लहर से जूझते हुए तीसरी लहर की तैयारी करना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य 30 मई के तक महामारी की दूसरी लहर को नियंत्रित करना है और नागरिकों से उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन करने का अनुरोध किया।

मुख्यमंत्री पहले ही कोरोना कर्फ्यू को 30 मई तक बढ़ा चुके हैं।

अन्य ख़बरें

सोमवार को ईंधन की कीमतों में कोई बदलाव नहीं

Newsdesk

भारत में कोविड के 53,256 नए मामले, 24 घंटे में 1,422 लोगों की मौत

Newsdesk

केरल में सड़क दुर्घटना में 5 की मौत, पुलिस ने जांच शुरू की

Newsdesk

Leave a Reply