Seetimes
Entertainment Hollywood

मजहब खूबसूरत हैं, लेकिन कभी-कभार इससे एक कदम पीछे हटना भी जरूरी है : नतालिया डायर

मुंबई, 1 जून (आईएएनएस)| फिल्म ‘येस गॉड येस’ में नजर आ रहीं भिनेत्री नतालिया डायर का मानना है कि मजहब एक खूबसूरत चीज है, लेकिन कभी—कभार इससे एक कदम पीछे हटना भी जरूरी हो जाता है। नतालिया कहती हैं, “मेरा मानना है कि मजहब खूबसूरत है, लेकिन कभी—कभार इससे एक कदम पीछे हटना भी जरूरी है ताकि आप यह सोच सके कि आपने क्या सीखा है और आपके हिसाब से आप क्या जानते हैं क्योंकि इन जिज्ञासाओं के बिना आप खुद को खोने लगते हैं, जो आप वास्तव में हैं।”

वह आगे कहती हैं, “इसलिए मेरा मानना है कि अपना दिमाग खुला रखें और लोगों को गलतियां करने दें ताकि इन्हीं गलतियों से उन्हें सीख मिले और इस पर आगे वे अपनी बात रख सके।”

फिल्म ‘येस गॉड येस’ की कहानी एक टीएनजर के सफर को लेकर है, जो विवाह पूर्व यौन संबंध और यौन जिज्ञासाओं पर कैथोलिक विचारों को सीखने के माध्यम से आगे बढ़ता है, जिन पर आज कल पॉप कल्चर का प्रभाव बढ़ गया है।

अन्य ख़बरें

क्वॉलिटी एंटरटेनमेंट देने में यकीन रखती हूं : निकी तंबोली

Newsdesk

यह नृत्य करने का टाइम है: जैकलीन फर्नांडीज

Newsdesk

शर्लिन चोपड़ा, करिश्मा तन्ना ने लगवाया कोविड टीका

Newsdesk

Leave a Reply