Seetimes
National

कांग्रेस ने महंगाई के खिलाफ मप्र में प्रदर्शन किया

भोपाल, 11 जून (आईएएनएस)| अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियों, पेट्रोल डीजल में हो रही लगातार मूल्य वृद्धि विरोध में देशव्यापी प्रदर्शन के आह्वान पर मध्य प्रदेश में भी कांग्रेस ने सभी जिलों में पट्रोल पंपों पर सांकेतिक विरोध प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस पदाधिकारियों ने कहा कि जो पेट्रोल जनवरी माह में 91.46 रूपए था वह आज 104.4 रूपए से अधिक हो गया है। वहीं डीजल 81.82 रूपए था जो अब 94.16 रूपए से अधिक में मिल रहा है। वहीं दाल और खाद्य तेल भी सेंचुरियां मार रहे हैं। आलू प्याज भी डेढ़ गुने दामों पर हैं। जिससे चलते गरीब जनता को देश की मोदी सरकार और प्रदेश की शिवराज सरकार ने निचोड़ डाला है।

कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ इन दिनों गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में उपचार रत है। उन्होंने एक बयान जारी कर कहा कि आज देश में ,प्रदेश में पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस के दाम निरंतर आसमान को छू रहे हैं , बढ़ती महंगाई से दुखी जनता त्राहि-त्राहि कर रही है।

कमल नाथ ने कहा, “पांच राज्यों के चुनावो को देखते हुए दो माह से ज्यादा समय तक पेट्रोल-डीजल के दाम में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई और चुनाव संपन्न होते ही चार मई से अभी तक 23 बार पेट्रोल-डीजल के दाम में मूल्य वृद्धि की जा चुकी है। इस दौरान पेट्रोल की कीमत लगभग 5.53 प्रति लीटर और डीजल की कीमत लगभग 5.97 प्रति लीटर तक बढ़ चुकी है।”

उन्होने आगे, “कहा मोदी सरकार के 7 वर्षों में पेट्रोल की कीमत लगभग 40 रुपये तक बढ़ चुकी है और डीजल की कीमत भी 45 रुपये के लगभग तक बढ़ चुकी है । इस कोरोना महामारी के दौरान मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर 2.74 लाख करोड़ टैक्स वसूला है, फिर भी जनता को कोई राहत प्रदान नहीं की जा रही है।”

कांग्रेस द्वारा आयोजित भाजपा सरकार की पेट्रोलियम पदार्थों की मूल्य वृद्धि के खिलाफ इस प्रदेशव्यापी प्रदर्शन मंे सभी जिलों में स्थानीय स्तर पर कांग्रेस कार्यकर्ता एवम पदाधिकारियों ने मास्क लगाकर, सोशल डिस्टेंस के साथ कोविड के नियमों का पूर्ण ध्यान रखा। सीमित संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने तख्तियां, बैनर हाथों में लिये, नारेबाजी कर अपने क्षेत्र के निकटतम पेट्रोल पंप के सामने डीजल, पेट्रोल की लगातार मूल्य वृद्धि के खिलाफ सांकेतिक प्रदर्शन किया और भाजपा सरकार से पेट्रोल डीजल के दाम तत्काल कम किए जाने की मांग की।

अन्य ख़बरें

यमुना किनारे सैकड़ों पेड़ काटे जाने पर सोशल मीडिया पर हंगामा

Newsdesk

मिल्खा सिंह : एथलेटिक्स के ‘भारत रत्न’ को उनका हक नहीं मिला

Newsdesk

दूसरों के लिए सबक हो सकती है चिराग पासवान की नकारात्मक राजनीति

Newsdesk

Leave a Reply