Seetimes
Crime Mobile

दक्षिण कोरिया ने झूठे उपकरण रिकॉर्ड के लिए हुआवेई, सैमसंग के खिलाफ की कार्रवाई

सियोल, 18 जून (आईएएनएस)| दक्षिण कोरिया के आईसीटी मंत्रालय ने कहा है कि उसने फर्जी परीक्षण रिकॉर्ड जमा करने के बाद कार्रवाई करते हुए हुआवेई टेक्नोलॉजीज और टेक दिग्गज सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स सहित लगभग 400 कंपनियों के संचार उपकरणों के लगभग 1,700 पीस पर अनुरूपता आकलन को रद्द कर दिया है।

दक्षिण कोरिया के रेडियो तरंग कानून के तहत, संचार उपकरणों को अनुरूपता आकलन से गुजरना पड़ता है जो उन्हें बनाने, बेचने या आयात करने के लिए अन्य उपकरणों और मानव शरीर पर उनके प्रभाव की जांच करते हैं।

विज्ञान और आईसीटी मंत्रालय ने कहा कि उन्होंने 378 कंपनियों के 1,696 उपकरणों के मूल्यांकन को रद्द कर दिया क्योंकि वे झूठे परीक्षण रिकॉर्ड पर आधारित थे।

योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, वितरण चैनलों से उपकरण वापस ले लिए जाएंगे और कंपनियों को एक साल के लिए उपकरणों के लिए नए अनुरूपता मूल्यांकन प्राप्त करने से भी रोक दिया जाएगा।

ये रद्दीकरण, मंत्रालय की ओर से पहली कार्रवाई है जो पिछले साल एक जांच के बाद सामने आया। जांच में गलत परीक्षण रिकॉर्ड का पता चला था।

मंत्रालय ने कहा कि कंपनियों ने परीक्षण रिपोर्ट प्रस्तुत की थी जो कि वैश्विक परीक्षण और प्रमाणन संगठन बे एरिया कंप्लायंस लेबोरेटरीज (बीएसीएल) के अमेरिकी कार्यालय द्वारा जारी की गई थी, लेकिन वास्तव में, इसके चीनी कार्यालयों से थीं।

जबकि दक्षिण कोरिया अमेरिका के साथ एक समझौते के माध्यम से अमेरिका स्थित बीएसीएल से परीक्षण के परिणामों को स्वीकार करता है, यह संगठन के चीनी कार्यालयों द्वारा परीक्षण को मान्यता नहीं देता है।

मंत्रालय ने कहा कि कंपनियों ने तर्क दिया कि वे परीक्षण रिकॉर्ड की निर्माण प्रक्रिया में शामिल नहीं थे, फिर भी उपकरण रेडियो तरंग कानून के तहत उनके इरादे की परवाह किए बिना रद्द करने के लिए तैयार थे।

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने वायरलेस स्पीकर जैसे उपकरणों पर 23 झूठे रिकॉर्ड के साथ 10वें स्थान पर रखा है।

अन्य ख़बरें

पोर्न मामला : राज कुंद्रा को 10 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेजा

Newsdesk

श्रीलंका में 50,000 से ज्यादा लोग क्वारंटीन कानूनों का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार

Newsdesk

यूपी साइबर सेल ने ठगी करने वाले लोगों को बेनकाब किया, बैंक खातों से 6 करोड़ रुपये बरामद

Newsdesk

Leave a Reply