Seetimes
Sports

विलियम्सन ने पूरा किया मार्टिन क्रोव का सपना

साउथम्पटन, 24 जून (आईएएनएस)| न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का खिताब जीतने के साथ ही पूर्व कीवी बल्लेबाज मार्टिन क्रोव के आईसीसी टूर्नामेंट जीतने का सपना पूरा कर दिया।

2015 वनडे विश्व कप फाइनल के दौरान बीमार क्रोव चाहते थे कि न्यूजीलैंड की टीम आईसीसी टूर्नामेंट का खिताब जीते। न्यूजीलैंड ने 2000 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी।

न्यूजीलैंड को हालांकि 2015 के फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। इसके एक साल बाद क्रोव का निधन हो गया था। न्यूजीलैंड इसके बाद 2019 विश्व कप के भी फाइनल में पहुंची जहां उसे बाउंड्री काउंट के हिसाब से इंग्लैंड के हाथों पराजय झेलनी पड़ी।

विलियम्सन ने मैच के बाद कहा, “यह बहुत विशेष अवसर है और शानदार एहसास है। हम इससे पहले भी कई बार फाइनल में पहुंचे हैं। 2015 में हमें एकतरफा मुकाबले में हार मिली थी जबकि 2019 का मुकाबला दिलचस्प था। लेकिन यह एहसास उससे अलग है जो शानदार है।”

विलियम्सन इस सदी के चार सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं।

विलियम्सन ने कहा, “2019 का अवसर अच्छा था और बेहतरीन क्रिकेट का खेल हुआ। लेकिन जाहिर है कि वो अलग एहसास था। पहला डब्ल्यूटीसी फाइनल का खिताब जीतना वाकई बेहद अच्छा एहसास है।”

फाइनल से पहले भारत इस खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था क्योंकि उसने विदेश में ज्यादा सीरीज जीती है।

विलियम्सन ने कहा, “मेरे ख्याल से हमारे लिए यह जानना जरूरी है कि टीम में हमेशा स्टार खिलाड़ी नहीं रह सकते। हमने हर मैच में अपना सबकुछ दिया और प्रतिस्पर्धी बने रहे।”

उन्होंने कहा, “हमारे लिए यह जरूरी था कि हम अपने क्रिकेट के स्टाइल पर प्रतिबद्ध रहें और हमने ऐसा किया। हमें पता था कि भारतीय टीम कितनी मजबूत है। हमने लंबे समय तक यह देखा है।”

अन्य ख़बरें

ओलंपिक (मुक्केबाजी) : भारत की लवलीना क्वार्टर फाइनल में पहुंचीं

Newsdesk

ओलंपिक (बैडमिंटन) : तीसरा ग्रुप मैच में जीतकर भी पदक की दौड़ से बाहर हुए सात्विक-चिराग

Newsdesk

ओलंपिक (निशानेबाजी) : सौरव, मनु, अभिषेक और देसवाल ने मिश्रित टीम इवेंट में किया निराश

Newsdesk

Leave a Reply