Seetimes
Town

अरावली क्षेत्र में चार अवैध फार्महाउस धराशायी

गुरुग्राम, 28 जून (आईएएनएस)| टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग (डीटीसीपी) ने सोमवार को यहां गैरतपुर बास में अरावली पर्वत श्रृंखला पर निर्मित चार निमार्णाधीन अवैध फार्महाउस और सड़क नेटवर्क को ध्वस्त कर दिया। डीटीसीपी अधिकारियों के अनुसार गुरुग्राम जिला एक शहरी और नियंत्रित क्षेत्र है, जिसमें कॉलोनी के विकास से पहले सक्षम प्राधिकारी से अनुमति लेनी होती है।

“उल्लंघनकर्ता बिना किसी अनुमति के एक अवैध कॉलोनी विकसित कर रहे थे। इसके अलावा, वे कॉलोनी को 15 एकड़ से सटे जमीन पर भी विस्तारित करने की योजना बना रहे थे, क्योंकि साइट पर सड़क नेटवर्क बिछाने के लिए नए उत्खनन कार्य स्पष्ट थे, जबकि कई पेड़ भी उखड़े हुए मिले।”

जिला टाउन प्लानर आरएस बाथ ने आईएएनएस को बताया “चार निमार्णाधीन फार्महाउस संरचनाओं को ध्वस्त कर दिया गया था, चारदीवारी और सड़क नेटवर्क को तोड़ दिया गया था।”

इससे पहले 23 जून को सोहना नगर परिषद की एक टीम ने गुरुग्राम के रायसीना गांव में अरावली पर्वत श्रृंखला पर बने नौ अवैध फार्महाउस को ध्वस्त कर दिया था।

4 under construction illegal farmhouses in Aravalli region demolished in Gurugram

यह अभियान नौ अवैध फार्महाउसों पर चलाया गया जिसमें चारदीवारी, टीन शेड और स्तंभ शामिल थे।

विध्वंस अरावली अधिसूचना की धारा 4 के तहत किया गया था, जिसमें कहा गया है कि इन पहाड़ियों का उपयोग वृक्षारोपण के अलावा किसी अन्य उद्देश्य के लिए नहीं किया जा सकता है।

यह दिसंबर 2020 से नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश के अनुपालन में किया गया था, जिसमें निर्देश दिया गया था कि गुरुग्राम की अरावली रेंज पर बने ऐसे सभी प्रतिष्ठानों को 31 जनवरी तक ढहा दिया जाए।

4 under construction illegal farmhouses in Aravalli region demolished in Gurugram

हाल ही में वन विभाग के सर्वेक्षण के अनुसार, गुरुग्राम में अरावली भूमि पर अवैध रूप से बनाए गए कम से कम 500 ऐसे फार्महाउस हैं, जो ग्वाल पहाड़ी, गैरतपुर बास, सोहना और मानेसर जैसे क्षेत्रों में केंद्रित हैं।

अन्य ख़बरें

भारत ने प्लास्टिक कचरे का उपयोग करके 703 किमी राजमार्गों का निर्माण किया

Newsdesk

बिहार : बकाया मानदेय भुगतान की मांग कर रहे वार्ड सचिवों पर पुलिस ने भांजी लाठियां

Newsdesk

बिहार विधानसभा में हंगामा, राजद विधायक ‘बेईमान’ शब्द कहने पर घिरे

Newsdesk

Leave a Reply