Seetimes
National

दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान में एक सप्ताह तक भीषण गर्मी की आशंका

नई दिल्ली, 1 जुलाई (आईएएनएस)| राजधानी दिल्ली, हरियाणा और पश्चिमी राजस्थान में अगले छह-सात दिनों तक भीषण गर्मी की स्थिति बनी रहेगी और पारा प्रतिदिन 40 डिग्री सेल्सियस के पार जाने की संभावना है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि खराब मौसम के पीछे राजस्थान में बारिश की कमी और तेज हवाएं हैं।

आईएमडी ने कहा कि गुरुवार को दिल्ली में अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा।

आईएमडी ने कहा, “शहर में ‘भीषण गर्मी’ की चपेट में आने के एक दिन बाद पारा 43.5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जो सामान्य से सात डिग्री अधिक और इस साल का उच्चतम तापमान है। गुरुवार सुबह 31.7 डिग्री दर्ज किया गया न्यूनतम तापमान भी सामान्य से चार डिग्री अधिक था।”

मौसम कार्यालय ने भी शहर में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहने और लू चलने की संभावना जताई है।

आईएमडी का पूवार्नुमान है, “दिल्ली, हरियाणा और पश्चिम राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर गंभीर लू की स्थिति है।”

मंगलवार को भी ऐसा ही मौसम देखने को मिला।

आईएमडी ने कहा कि शुक्रवार को धूल भरी आंधी या आंधी के रूप में कुछ राहत मिलने की उम्मीद है।

आईएमडी के राष्ट्रीय मौसम पूवार्नुमान केंद्र ने कहा, “मौजूदा मौसम संबंधी स्थितियां, बड़े पैमाने पर वातावरणीय विशेषताएं और गतिशील मॉडल द्वारा पूवार्नुमान हवा के पैटर्न से पता चलता है कि अगले एक सप्ताह तक दिल्ली, राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़ और पंजाब के शेष हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए कोई अनुकूल परिस्थितियों के विकसित होने की संभावना नहीं है।”

“अगले 6-7 दिनों के दौरान उपद्वीप को भारत के उत्तर-पश्चिम, मध्य और पश्चिमी हिस्सों में कम बारिश की गतिविधि जारी रहने की संभावना है। इस अवधि के दौरान इन क्षेत्रों में बिजली और बारिश के साथ अलग-थलग या छिटपुट गरज के साथ छींटे पड़ने की भी संभावना है।”

बंगाल की खाड़ी से उत्तर-पूर्व और उससे सटे पूर्वी भारत तक निचले क्षोभमंडल स्तरों पर तेज नम दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के प्रभाव में, अगले 6-7 दिनों के दौरान बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम और पूर्वोत्तर राज्यों में अलग-अलग भारी वर्षा के साथ काफी व्यापक वर्षा की संभावना है।

अगले तीन दिनों में त्रिपुरा, अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम में भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

गुरुवार से उत्तरी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में नम पूर्वी हवाओं के मजबूत होने के कारण, अगले पांच दिनों के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर भारी बारिश के साथ बारिश की गतिविधियां बढ़ने की संभावना है।

अन्य ख़बरें

योगी ने कोरोना की तीसरी लहर के लिए यूपी को अलर्ट मोड पर रखा

Newsdesk

कोर्ट ने यूपी के मंत्री के खिलाफ मारपीट का केस दर्ज करने का आदेश दिया

Newsdesk

कर्नाटक में फेरबदल के बाद सोशल इंजीनियरिंग पर विचार कर रही भाजपा

Newsdesk

Leave a Reply