30.5 C
Jabalpur
September 24, 2021
Seetimes
Health & Science

एमपी के बाद राजस्थान में सबसे ज्यादा कोविड एंटीबॉडीज : सर्वे

जयपुर, 29 जुलाई (आईएएनएस)| सितंबर/अक्टूबर तक कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच राजस्थान के लिए अच्छी खबर है, क्योंकि यहां की 76 फीसदी आबादी में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी हैं। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर ) द्वारा पिछले महीने कराए गए सीरो सर्वे की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है।

रिपोर्ट के अनुसार जून-जुलाई में राजस्थान के विभिन्न शहरों से कुल 1,226 रैंडम सैंपल लिए गए। जब इन नमूनों का परीक्षण किया गया तो 934 नमूनों में एंटीबॉडी पाए गए। इस सर्वे रिपोर्ट ने राज्य के लोगों में कोविड एंटीबॉडीज की मौजूदगी के संकेत दिए हैं।

सीरो सर्वे रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि देश भर में सबसे ज्यादा एंटीबॉडी मध्य प्रदेश के लोगों में पाई गई है, जो कि आबादी का करीब 79 फीसदी है। मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान दूसरे नंबर पर आता है। इसी तरह सबसे कम एंटीबॉडी की गिनती केरल में हुई है जो कि महज 44 फीसदी है।

राजस्थान में दूसरी कोविड लहर के दौरान ढाई महीने (अप्रैल, मई और मध्य जून तक) में करीब 6 लाख पॉजिटिव केस मिले। कोरोनावायरस के कारण 6,000 से अधिक लोगों की जान चली गई।

रिपोर्ट के अनुसार, मध्य प्रदेश अपनी 79 प्रतिशत आबादी में एंटीबॉडी के साथ चार्ट में सबसे आगे है, जबकि राजस्थान 76.2 प्रतिशत सीरो प्रसार के साथ दूसरे स्थान पर है। बिहार में 75.9 प्रतिशत, गुजरात में 75.3 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ में 74.6 प्रतिशत, उत्तराखंड में 73.1 प्रतिशत, उत्तर प्रदेश में 71 प्रतिशत और आंध्र प्रदेश में 70.2 प्रतिशत सीरो प्रसार है।

इसी तरह कर्नाटक में यह 69.8 फीसदी, तमिलनाडु में 69.2 फीसदी, ओडिशा में 68.1 फीसदी, पंजाब में 66.5 फीसदी, तेलंगाना में 63.1 फीसदी, जम्मू-कश्मीर में 63 फीसदी, हिमाचल प्रदेश में 62 फीसदी, झारखंड में 61.2 फीसदी, पश्चिम बंगाल में 60.9 फीसदी, हरियाणा में 60.1 फीसदी, महाराष्ट्र में 58 फीसदी, असम में 50.3 फीसदी और केरल में 44.4 फीसदी है।

अन्य ख़बरें

इजरायल में कोविड-19 के 8,691 नए मामले

Newsdesk

यूपी : कोविड-19 के 194 सक्रिय मामले

Newsdesk

ऑस्ट्रेलिया में रोजाना के कोविड मामलों में आई गिरावट

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy