Seetimes
Town

मप्र में कांग्रेस सोशल मीडिया तक सीमित : भाजपा

भोपाल, 30 जुलाई (आईएएनएस)| भाजपा की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने कांग्रेस और कमल नाथ पर हमला बोलते हुए कहा, कांग्रेस अपना अस्तित्व खो रही है और वह सोशल मीडिया, ट्विटर आदि तक पर सीमित रह गई है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष शर्मा ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि पहले कांग्रेस के दिग्विजय सिंह और फिर उनके साथ कमल नाथ भी कहते थे कि ईवीएम में खराबी है। लेकिन अब कमल नाथ ने यह स्वीकार कर लिया है कि वह अपनी ही हवावाजी से हार रहे हैं, ईवीएम की वजह से नहीं। कमल नाथ ने वल्लभ भवन की पांचवीं मंजिल पर बैठकर प्रदेश के किसानों, गरीबों, नौजवानों, छात्रों एवं महिलाओं के बारे में जो हवाबाजी की, उसी का जवाब तो प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को दिया है। 15 महीनों में ही कांग्रेस सरकार का हिसाब किताब हो गया। 28 विधानसभाओं के उपचुनाव में भी जनता ने कांग्रेस को आईना दिखाया है।

प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमल नाथ यदि अपनी खीझ अरुण यादव पर निकाल रहे हैं, वह कांग्रेस का आंतरिक मामला है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस लगातार अपना अस्तित्व खो रही है, कांग्रेस अब अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। प्रदेश में कांग्रेस ट्विटर, सोशल मीडिया और वक्तव्यों तक सीमित रह गई है।

प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा से ही ओबीसी की उपेक्षा की है। कांग्रेस ने दिखावे के लिए केवल ओबीसी कमीशन बनाया था, लेकिन उसे कभी संवैधानिक दर्जा नहीं दिया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओबीसी कमीशन को संवैधानिक दर्जा देकर अधिकार प्रदान किए।

उन्होंने भाजपा द्वारा अनुसूचित जाति वर्ग के उत्थान के लिए उठाए गए कदमों का जिक्र करते हुए कहा कि जब देश में अटलबिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री बने थे, तो पहली बार ट्राइबल मिनिस्ट्री बनी थी। कांग्रेस केवल लोगों को वोट बैंक मानती रही है और आज भी इसी सिद्धांत पर काम कर ही है, इसीलिए कांग्रेस की सरकार ने ओबीसी के 27 प्रतिशत आरक्षण को कोर्ट में स्टे करा दिया था।

शर्मा ने चिकित्सा शिक्षा में ओबीसी छात्रों को 27 प्रतिशत और आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने पर प्रधामनंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया।

शर्मा ने कहा कि भाजपा विपक्ष या अपने प्रतिद्वंदी को कभी कमजोर नहीं मानती। पार्टी का प्रत्येक कार्यकर्ता साल के 365 दिन चैबीसों घंटे सक्रिय रहता है। पार्टी कोई भी चुनाव अपने काम के बल पर, कार्यकर्ताओं की मेहनत के बल पर, अपने संगठन तंत्र के आधार पर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकारों द्वारा चलाई गई गरीब कल्याण की योजनाओं के बल पर जीतती है। वहीं कांग्रेस हर बार हार के लिए कोई न कोई नया बहाना ढूंढती रहती है।

अन्य ख़बरें

यूएस से आया शख्स यूपी में पॉजिटिव पाया गया

Newsdesk

मप्र के मिर्ची कारोबारी चाहते हैं ब्रांडिंग

Newsdesk

भवानीपुर सीट पर ममता बनर्जी से भिड़ेंगी बीजेपी की प्रियंका टिबरेवाल

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy