Seetimes
Entertainment Hollywood

एड शीरन को असहज लगते है अवार्ड शो

लॉस एंजिल्स, 16 सितम्बर (आईएएनएस)| ग्रैमी विजेता-गायक एड शीरन ने कहा है कि प्रमुख पुरस्कार देने वाले समारोहों में बहुत सारी ‘साइड-आई’ चल रही है और वह हवा में ‘नाराजगी और घृणा’ महसूस कर करते हैं। ऑडेसी के ‘द जूलिया शो’ में शीरन ने कहा कि कमरा हर किसी के प्रति नाराजगी और नफरत से भरा है और यह काफी असहज माहौल है।

सभी कलाकार प्यारे लोग हैं, लेकिन वे ऐसे लोगों से घिरे हुए हैं जो उन्हें भी जीतना चाहते हैं, इसलिए एक कलाकार है जो दस लोगों से घिरा हुआ रहता है और दूसरा कलाकार 10 लोगों में घिरा हुआ है और हर कोई एक-दूसरे को आंख दिखा रहे है।

‘परफेक्ट’ हिटमेकर को यह पसंद नहीं है कि कलाकार अन्य कलाकारों का समर्थन न करें और अपने साथियों को विफल होने दें।

उन्होंने आगे कहा कि इसका एमटीवी और अवार्ड शो से कोई लेना-देना नहीं है, यह अन्य सभी अवार्ड शो में भी होता है, बिलबोर्ड, ग्रैमी, एएमएएस। यहां बहुत सारे लोग हैं जो चाहते हैं कि दूसरे लोग असफल हों और मुझे ये पसंद नहीं है।

फीमेलफस्र्ट.को.यूके की रिपोर्ट के अनुसार ‘शेप ऑफ यू’ हिटमेकर ने कहा कि ब्रिट अवार्डस जैसे इंग्लैंड के अवार्ड शो अधिक हल्के-फुल्के होते हैं क्योंकि हर कोई अच्छा समय बिताने के लिए वहां शामिल होता है।

उन्होंने आगे कहा कि इंग्लैंड में, हमारे अवार्ड शो ऐसे ही होते हैं, हर कोई नशे में धुत हो जाता है और कोई भी वास्तव में किसी की परवाह नहीं करता है कि कौन जीतता है या हारता है, यह सिर्फ एक अच्छा नाइट आउट है। लोगों को उन अवार्ड शो में मेरे जैसा ही महसूस होता है। मैंने लोगों से बात की है और वे कहते हैं, ‘मैंने बाद में वास्तव में बुरा महसूस किया’।

माहौल अच्छा नहीं होता है । वहां होना वाकई बहुत ही भयानक होता है। मैं हमेशा उदास महसूस करते हुए दूर चला जाता हूँ और मुझे यह पसंद नहीं है।

अन्य ख़बरें

कोविड के कारण डांस स्टूडियो खोलने में देरी हुई : रेमो

Newsdesk

हिना खान ने घरवालों के व्यवहार पर ‘बिग बॉस’ से किया सवाल

Newsdesk

फोर्ब्स की लिस्ट में रश्मिका मंदाना ने सामंथा, विजय देवरकोंडा, यश को पीछे छोड़ा

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy