Seetimes
Headlines National

अयोध्या में कथित जमीन घोटाले से जुड़े मामले में मायावती बोलीं, ‘सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो जांच’

लखनऊ, 23 दिसम्बर (आईएएनएस)| बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि अयोध्या में अधिकारियों-नेताओं व उनके रिश्तेदारों के नाम पर हुई जमीन खरीदी की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट को पूरे मामले का संज्ञान लेना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में ही पूरे मामले की जांच होनी चाहिए। लखनऊ स्थित पार्टी के प्रदेश कार्यालय में मायावती ने पत्रकारों संबोधित किया।

बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के आस-पास की जमीन खरीद घोटाले बड़े लोगों का नाम आना एक गंभीर मामला है। अब तो इस मामले में उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बेहतर होगा कि इस बड़े प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट दखल दे। सुप्रीम कोर्ट को केन्द्र तथा राज्य सरकार को इस मुद्दे को गंभीरता से लेने के लिए निर्देश देना चाहिए। यह तो करोड़ों लोगों की आस्था से जुड़ा मामला है।

ज्ञात हो कि राम जन्मभूमि मंदिर पर शीर्ष अदालत का फैसला आने के बाद अयोध्या में अधिकारियों-नेताओं व उनके रिश्तेदारों ने कथित तौर पर बड़े पैमाने पर जमीनें खरीदी हैं। करोड़ों की ये जमीनें औने-पौने दाम पर खरीदी गई हैं। योगी सरकार ने राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण शुरू होने के बाद अयोध्या में अफसरों, नेताओं और उनके रिश्तेदारों द्वारा बड़े पैमाने खरीदी गई जमीन की जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर विशेष सचिव राजस्व राधेश्याम मिश्रा को जांच सौंपी गई है। मिश्रा को पांच दिन में जांच पूरी करके रिपोर्ट देने को कहा गया है।

मायावती ने कहा कि भाजपा के 300 सीट जीतने के दावे में दम नहीं है। यदि ऐसा होता तो चुनावी दौर में इतनी लुभावनी घोषणा की जरूरत न पड़ती। छात्रों को लालच देने की जरूरत न पड़ती। केंद्रीय नेताओ व मंत्रियों को थोक में यूपी में लाने की जरूरत न पड़ती।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर कहा कि अपने फायदे के लिए भाजपा और सपा विधानसभा चुनाव को हिंदू-मुसलमान बनाना चाहती हैं। उन्होंने पार्टी मुख्यालय पर मुख्य सेक्टर प्रभारियों और जिला अध्यक्षों को निर्देश दिया कि वह घर-घर जाकर भाजपा और सपा कि इस साजिश का खुलासा करें और मतदाताओं को सतर्क करें।

मायावती ने फोन टैपिंग के मामले में कहा कि कांग्रेस जब पावर में होती है, तब वह भी यही करती है। भाजपा जब पावर में होती है तब वह उस पर यही आरोप लगते हैं। बसपा की चार सरकारों में जनता के हितों में ही काम किया गया है।

बसपा मुखिया मायावती ने कहा कि जैसा कि आप सभी को अवगत है कि हमारी पार्टी उत्तर प्रदेश में अकेले ही सभी 403 विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ रही है। हमारे कार्यकर्ता, नेता तथा प्रत्याशी इसके लिए जोरदार तैयारी में भी लगे हैं। आज की यह बैठक इन सभी की तैयारियों को परखने के लिए बुलाई गई है

अन्य ख़बरें

मप्र में कोरोना संक्रमण के चलते स्कूलों को 31 के बाद खोलने पर संशय

Newsdesk

यूपी विधानसभा चुनाव : ‘सैफई महोत्सव’ पर योगी का तंज

Newsdesk

पिछले 3 महीनों में लगभग 30 हजार बिटकॉइन करोड़पतियों का हो गया सफाया

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy