Seetimes
Health & Science World

ओमिक्रॉन : जर्मनी ने चौथी बूस्टर खुराक की घोषणा की, ब्रिटेन भी कर रहा विचार

लंदन, 23 दिसंबर (आईएएनएस)| इजरायल के बाद अब जर्मनी ने कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते प्रकोप के बीच चौथी कोविड बूस्टर डोज को रोल आउट करने की घोषणा की है। इस बीच ब्रिटेन भी चौथी खुराक के लिए विचार कर रहा है, क्योंकि कोविड मामले एक बार फिर से बढ़ने लगे हैं।

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, जर्मन स्वास्थ्य मंत्री कार्ल लॉटरबैक ने बुधवार को चेतावनी दी कि ओमिक्रॉन से निपटने के लिए चौथी खुराक की जरूरत होगी।

देश ने एक ओमिक्रॉन-विशिष्ट वैक्सीन की लाखों नई खुराक का ऑर्डर दिया है। हालांकि, डिलीवरी अप्रैल या मई तक होने की उम्मीद नहीं है।

लॉटरबैक ने कहा कि वर्तमान में मॉडर्ना की कोविड वैक्सीन का उपयोग बूस्टर अभियान में किया जाता है और जर्मनी ने नए नोवावैक्स जैब की 40 लाख खुराक और नए वालनेवा शॉट की 1.1 करोड़ खुराक का भी आदेश दिया है, जो विपणन प्राधिकरण (मार्केटिंग अथॉरिटी) की प्रतीक्षा कर रहा है।

डीडब्ल्यू डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, जर्मनी के रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट (आरकेआई) के रोग नियंत्रण प्रमुख के अनुसार, जनवरी के मध्य तक ओमिक्रॉन वेरिएंट वायरस का सबसे प्रमुख वेरिएंट होगा।

लोथर वीलर ने चेताते हुए कहा है कि संक्रमण की लहर जर्मनी में स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को प्रभावित कर सकती है।

बर्लिन में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान वीलर ने कहा, “पिछले कुछ दिनों में मामलों की संख्या में कमी जरूर आई है, लेकिन दुर्भाग्य से, यह सहजता का संकेत नहीं है।”

उन्होंने कहा, “हमें अभी भी बहुत अधिक मामलों की संख्या को कम करने की आवश्यकता है। क्रिसमस वह चिंगारी नहीं होनी चाहिए, जो ओमिक्रॉन की आग को जला दे।”

जर्मनी ने बुधवार को 45,659 नए कोरोनोवायरस मामले दर्ज किए, जो एक सप्ताह पहले की तुलना में 5,642 कम है, जबकि संक्रमण की वजह से मरने वालों की संख्या 510 दर्ज की गई है।

जर्मनी और इजरायल की अगुवाई के बाद, टीकाकरण मामलों पर यूके की संयुक्त समिति (जेसीवीआई) भी बूस्टर के दूसरे सेट के रोलआउट पर विचार कर रही है।

द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार, जेसीवीआई के विशेषज्ञ अतिरिक्त खुराक को लेकर काम में जुट गए हैं। कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों को पहले से ही चौथी बूस्टर खुराक की जरूरत महसूस हो रही है और इसके अलावा बुजुर्गों और अन्य कमजोर समूहों तक भी इसे बढ़ाया जा सकता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि चौथी खुराक तीसरी डोज के चार महीने बाद आने की संभावना है अगर इसे हरी झंडी मिलती है और यह नए साल में उपलब्ध हो सकती है।

जेसीवीआई के डिप्टी चेयरमैन प्रोफेसर एंथनी हार्डेन ने कहा, “हमें और डेटा देखने की जरूरत है। हमारी परिस्थिति इजरायल से अलग हैं और हमें अस्पताल में भर्ती होने के खिलाफ प्रतिरक्षा और टीके की प्रभावशीलता पर अधिक डेटा देखने की जरूरत है।”

ब्रिटेन में बुधवार को पहली बार 100,000 से अधिक नए दैनिक कोविड मामले सामने आए थे।

अन्य ख़बरें

फायदे की बजाय स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है मूंगफली का अधिक सेवन

Newsdesk

माइग्रेन के दर्द को चुटकियों में दूर करेगा मखाना खसखस का उपाय, ये नुस्खे भी असरदार

Newsdesk

मप्र में कोरोना संक्रमण के चलते स्कूलों को 31 के बाद खोलने पर संशय

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy