30.8 C
Jabalpur
May 18, 2022
Seetimes
Bollywood Entertainment Television

माइक्रोफोन एक ‘वॉयस आर्टिस्ट’ के लिए कैमरा है : श्वेता त्रिपाठी

मुंबई, 14 मई (आईएएनएस)| टेलीविजन की मशहूर अभिनेत्री श्वेता त्रिपाठी की इंडस्ट्री में एक अलग ही पहचान है।

उन्होंने जब से फिल्म ‘मसान’ के साथ हिंदी सिनेमा में अपनी शुरुआत की है और ‘मिर्जापुर’, ‘मेड इन हेवन’, ‘लाखों में एक’, ‘रात अकेली है’, ‘ये काली काली आंखें’ और बहुत ऐसे प्रोजेक्ट किए हैं, तब से उन्होंने प्रशंसकों के दिल में अपनी खास जगह बना ली है और विश्वसनीय कलाकार के रूप में अपना स्थान अर्जित किया है।

अब श्वेता त्रिपाठी पहली बार ‘बैटमैन : एक चक्रव्यूह’ के साथ एक ‘वॉयस आर्टिस्ट’ के रूप में अपनी शुरुआत करने जा रही हैं। एक्ट्रेस ने आईएएनएस के साथ खास बातचीत में ऑडियो के जादू के बारे में बताया।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि जब से मैंने एक अभिनेत्री के रूप में काम करना शुरू किया है, मैं आवाज में कुछ तलाशना चाहती थी, चाहे वह रेडियो प्ले हो, वॉयस-ओवर या कुछ और। दरअसल, इसका कारण मेरा बचपन है, क्योंकि मुझे बचपन से ही रेडियो पसंद है और रेडियो मेरे सबसे अच्छे दोस्तों में से एक था, न केवल नवीनतम संगीत के कारण जो हम सुनते थे, बल्कि वह ऑडियो माध्यम भी था, जहां हम हमेशा आवाज के पीछे का चेहरा जानना चाहते थे। बेशक, अब वह रहस्य हिस्सा बदल गया है, लेकिन अपनी आंखें बंद करके कुछ देखने का एकमात्र तरीका पॉडकास्ट या रेडियो शो है।”

बता दे कि पॉडकास्ट मंत्रमुग्ध द्वारा निर्देशित है और बॉलीवुड अभिनेता अमित साध ने बैटमैन के चरित्र को अपनी आवाज दी है। इसमें अभिनेत्री श्वेता ने बारबरा गॉर्डन का किरदार निभाया है।

एक्ट्रेस ने आगे कहा, “यह पहली बार है जब मैंने एक पुलिस अधिकारी की भूमिका निभाई है और दिलचस्प बात यह है कि मैंने एक ऐसा किरदार निभाया है, जिसके बारे में बैटमैन के सभी प्रशंसक पहले से ही सब कुछ जानते हैं। इसलिए चुनौती दर्शकों को कहानी और मेरी आवाज से जोड़े रखने की थी। इस प्रक्रिया के माध्यम से मुझे एहसास हुआ कि माइक्रोफोन एक आवाज कलाकार के लिए एक कैमरे की तरह है। हमारे आवाज मॉड्यूलेशन के लिए हमारी श्वास भी बदलती है और माइक जादुई रूप से कैप्चर करता है। मुझे लगता है कि इस पॉडकास्ट को करने के बाद मैं एक बेहतर कलाकार बन गई हूं।”

चूंकि यह शो भारत में श्रोताओं के एक बड़े वर्ग तक पहुंचने के इरादे से हिंदी भाषा में है, इसलिए श्वेता ने बताया कि स्क्रिप्ट को दिलचस्प तरीके से लिखा गया है।

श्वेता कहती हैं, “आप देखिए, हम सभी बैटमैन की कहानी जानते हैं, लेकिन हमारा पॉडकास्ट ‘बैटमैन : एक चक्रव्यूह’ अंग्रेजी से हिंदी में अनुवाद नहीं है। हमने कन्टेंट के साथ उसमें पौराणिक तत्वों को भी जोड़ा है। मेरा चरित्र बारबरा एक पुलिस अधिकारी बनना चाहता है, क्योंकि वह अपने पिता की मदद करना चाहती है। लेकिन उसके पिता ने केवल यही नहीं बनने के लिए कहा, और हमने इसे भारतीय संदर्भ में रखने की कोशिश की। इसलिए, आखिरकार, यह हमारी कहानी की तरह सामने आता है।”

पॉडकास्ट ‘बैटमैन : एक चक्रव्यूह’ ऑडियो ऐप स्पोटीफाई पर स्ट्रीम होगा।

अन्य ख़बरें

उर्वशी उपाध्याय पहुंची अपने होमटाउन, कहा- ‘काम भी जरूरी और परिवार भी’

Newsdesk

मानुषी छिल्लर ने शूटिंग के दौरान थार रेगिस्तान में आने वाली मुश्किलों के बारे में बात की

Newsdesk

कई रिजेक्शन के बाद अब तीन शो का होना सौभाग्य की बात है: शिवानी मुकेश कोठारी

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy