26.9 C
Jabalpur
June 26, 2022
Seetimes
World

रूस का दावा : भाड़े के सैनिकों को यूक्रेन भेज रहीं अमेरिकी और ब्रिटिश कंपनियां

मॉस्को, 8 जून (आईएएनएस)| रूस ने दावा किया है कि अमेरिका और ब्रिटेन की निजी सैन्य कंपनियां (पीएमसी) भाड़े के सैनिकों को यूक्रेन भेज रही हैं। आरटी के मुताबिक, रूसी विदेश मंत्रालय की आधिकारिक प्रतिनिधि मारिया जखारोवा ने एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा, “उनके लिए (भाड़े के) शिपमेंट यूएसए और ब्रिटेन में पीएमसी द्वारा आकर्षित होते हैं और निश्चित रूप से उनके खिलाफ प्रतिबंध का कोई सवाल ही नहीं है।”

जखारोवा ने कहा कि भाड़े के सैनिकों के साथ ओएससीई, यूरोप परिषद और नाटो सहित अंतर्राष्ट्रीय संस्थान ‘खुशी से खामोश’ हैं।

इस बीच, रूसी रक्षा मंत्रालय ने यूक्रेनी ‘राष्ट्रवादी बटालियनों के उग्रवादियों’ पर रूसी सेना से भागते हुए मारियुपोल के समुद्री बंदरगाह में एक बड़े अन्न भंडार में जानबूझकर आग लगाने का आरोप लगाया है।

मंत्रालय के एक बयान के अनुसार, आगजनी का कथित कृत्य मारियुपोल के निवासियों के लिए अनाज की आपूर्ति रोकने के लिए किया गया। नतीजतन, 50,000 टन से अधिक अनाज नष्ट हो गया।

दावा किया गया है, “यह अमानवीय अपराध पूरे विश्व समुदाय को कीव शासन का ‘असली चेहरा’ दिखाता है, जो वास्तव में अपने ही लोगों के खिलाफ खाद्य आतंकवाद के तरीकों का उपयोग करता है।”

मंत्रालय ने कहा कि तथाकथित सभ्य पश्चिमी देश रूस पर वैश्विक खाद्य संकट बढ़ाने का आरोप लगाते हुए कीव का समर्थन करना जारी रखे हुए हैं।

मंत्रालय ने जोर देकर कहा कि रूसी सेना अपने ‘विशेष सैन्य अभियान’ के दौरान नागरिक आबादी का समर्थन करती है, इसके साथ मानवीय व्यवहार करती है और यूक्रेनी सेना के विपरीत देश के सामाजिक बुनियादी ढांचे पर हमला नहीं करती है।

यूक्रेन में रूसी सैन्य अभियान की शुरुआत के बाद से मास्को और कीव ने एक-दूसरे पर विभिन्न युद्ध अपराधों का आरोप लगाया है, जबकि अपने स्वयं के दायित्व से इनकार किया है।

डोनेट्स्क पीपुल्स रिपब्लिक के अधिकारियों ने पहले बताया था कि कई दिनों के प्रयासों के बावजूद अग्निशामक अनाज के भंडार को बचाने में विफल रहे।

अन्य ख़बरें

अफगानिस्तान से अल-कायदा की मिली धमकियों से चिंतित रूस व मध्य एशियाई रक्षा मंत्री मॉस्को में उलझे

Newsdesk

अल्जाइमर रोग से जुड़ा कोविड, पार्किं संस का खतरा

Newsdesk

क्रैश करने जा रहा है बिटकॉइन, चीन ने निवेशकों को चेताया

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy