26.9 C
Jabalpur
June 26, 2022
Seetimes
Health & Science World

अफगानिस्तान में विनाशकारी भूकंप से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,100 हुई

काबुल, 24 जून (आईएएनएस)| अफगानिस्तान में तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार ने घोषणा की है कि इस सप्ताह की शुरुआत में पक्तिका प्रांत में आए विनाशकारी 6.1 तीव्रता के भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,100 हो गई है, जबकि घायलों की संख्या भी 1,600 को पार कर गई है। टोलो समाचार की रिपोर्ट के अनुसार, आपदा प्रबंधन राज्य मंत्रालय ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि 1,000 से अधिक घायलों की हालत गंभीर है और घायलों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है, क्योंकि कुछ लोग अभी भी मलबे के नीचे फंसे हुए हैं।

स्थानीय अधिकारियों और पक्तिका के निवासियों ने कहा है कि भूकंप में एक हजार से अधिक घर नष्ट हो गए हैं, जिसे दो दशकों में सबसे घातक माना जा रहा है।

भूकंप का केंद्र खोस्त शहर से 44 किमी दूर था और झटके पाकिस्तान और भारत तक महसूस किए गए।

प्रभावित क्षेत्रों के निवासियों ने भी कहा है कि उनके पास खाने के लिए कुछ नहीं है और न ही कोई आश्रय है।

एक निवासी ने टोलो न्यूज को बताया, “लोगों के पास टेंट नहीं है, खाना नहीं है, लोग बाहर रह रहे हैं, हमें हर चीज की जरूरत है।”

वे मानवीय एजेंसियों और तालिबान सरकार से भी तत्काल सहायता प्रदान करने की अपील कर रहे हैं।

बीबीसी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अफगान और अंतर्राष्ट्रीय सहायता एजेंसियां नुकसान का आकलन कर रही हैं और आपूर्ति पहुंचा रही हैं, लेकिन यह एक बड़ा और विकासशील संकट है, जो देश की पहले से ही गंभीर मानवीय स्थिति के ऊपर आता है।

संयुक्त राष्ट्र, जो पीड़ितों की सहायता भी कर रहा है, हैजा के संभावित प्रकोप के जोखिम की चेतावनी दे रहा है।

सरकार ने घोषणा की है कि वह पीड़ितों के परिवारों के लिए 100,000 और घायलों को 50,000 का भुगतान करेगी।

मानवीय मामलों के समन्वय के लिए संयुक्त राष्ट्र के कार्यालय की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले एक दशक में देश में भूकंप में 7,000 से अधिक लोग मारे गए हैं।

भूकंप से हर साल औसतन 560 मौतें होती हैं।

अन्य ख़बरें

अफगानिस्तान से अल-कायदा की मिली धमकियों से चिंतित रूस व मध्य एशियाई रक्षा मंत्री मॉस्को में उलझे

Newsdesk

अल्जाइमर रोग से जुड़ा कोविड, पार्किं संस का खतरा

Newsdesk

क्रैश करने जा रहा है बिटकॉइन, चीन ने निवेशकों को चेताया

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy