26.5 C
Jabalpur
December 3, 2022
सी टाइम्स
प्रादेशिक

पार्षद प्रत्याशी खुर्शीद आलम ने करवाया पसमांदा मुस्लिम समाज का मंडलीय सम्मेलन

लखनऊ, 20 नवंबर | पसमांदा मुस्लिम समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मंत्री अनीस मंसूरी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी आज भी पसमांदा मुस्लिम विरोधी सिद्धांत पर चल रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नव निर्वाचित अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने पार्टी की स्टेयरिंग कमेटी के 47 लोगों की जो सूची जारी की है उसमें मात्र तीन मुसलमानहैं। यह तीनों सदस्य अशराफ या उच्च मुस्लिम जाति के हैं। अनीस मंसूरी आज चिनहट,लखनऊ में आयोजित पसमांदा मुस्लिम समाज लखनऊ मण्डल के मण्डलीय सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे।

श्री मंसूरी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की स्टेयरिंग कमेटी में एक भी पसमांदा मुस्लिम का न होना इस बात की दलील है कि कांग्रेस
पार्टी में पसमांदा मुसलमानों को लेकर 72 वर्ष पहले शुरू हुई नफरत अभी तक खत्म नहीं हुई है।

पूर्व मंत्री अनीस मंसूरी ने कहा कि 10, अगस्त 1950 को तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने मुसलमानों को आरक्षण से वंचित करने के लिए राष्ट्रपति अध्यादेश लाकर धारा 341के पैरा 03 पर धार्मिक प्रतिबंध लगा कर पिछड़े मुसलमानों को आरक्षण से वंचित कर दिया। यक़ीनन आजा़द भारत की यह सबसे बड़ी घटना थी जिसने पसमांदा मुसलमानों को बद से बद्तर जीवन यापन करने पर मजबूर कर दिया। काँग्रेस ने धारा 341 के पैरा 03 पर धार्मिक प्रतिबंध लगा कर पिछड़े/दलित मुसलमानों को आरक्षण से वंचित किया है केन्द्र सरकार को चाहिए कि धारा 341 के पैरा 03 से धार्मिक प्रतिबंध हटा कर पिछड़े/दलित मुसलमानों को आरक्षण दे।

ताकि ईसाइयों और मुसलमानों के सामने काँग्रेस की सच्चई सामने आ सके। जब तक पसमांदा मुसलमानों को उनका आरक्षण का अधिकार नहीं मिल जाता हमारा संघर्ष जारी रहेगा।श्री अनीस मंसूरी ने कहा कि खुर्शीद आलम को लखनऊ मण्डल की ज़िम्मेदारी सौंपी गयी है। खुर्शीद आलम सलमानी सामाजिक सोच के मालिक हैं, गरीबों की निस्वार्थ सेवा, गरीब बच्चों, व बच्चियों के विवाह, स्कूली छात्र, व छात्राओं को स्कूल की सामग्री तथा फीस जमा करते आ रहे हैं। समाज और क्षेत्र में स्वच्छ छवि के धनी हैं मैं इनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ।

वसीम राईनी प्रदेश अध्यक्ष, ने कहा कि
पसमांदा केवल वोट बैंक नहीं है वह सामाजिक न्याय और समता की लड़ाई का एक हिस्सा है। यह हमारा संवैधानिक एवं लोकतांत्रिक दायित्व है कि उन्हें राजनीति की मुख्य धारा में लाकर सामाजिक और आथिॅक न्याय दिलवाने का प्रयास करें।
कार्यक्रम संयोजक खुर्शीद आलम सलमानी ने आये हूए सम्मानित, गणमान्य लोगों को अंगवस्त्र व शील्ड सम्मान स्वरूप दे कर अतिथियों का सम्मान किया और क्षेत्र की जनता का आभार प्रकट करते हूए धन्यवाद दिया।

इस अवसर पर ऐजाज़ अहमद राईनी,हाजी नसीम मंसूरी, इलियास मंसूरी, ऐजाज़ अहमद एडवोकेट,इरशाद सक़ाफी मौलाना सिराज बारूदी, अशफ़ाक़ हाशमी, शब्बीर मंसूरी, आरिफ मंसूरी, शफ़ीक़ मंसूरी, अंगद श्रीवास्तव, सतेंद्र सिंह, राम यादव, वाजिद सलमानी, शमशाद सलमानी, मुबीन अहमद, के अलावा भारी संख्या में लोग मौजूद थे।

— सैफ अली इदरीसी

अन्य ख़बरें

अवैध खनन गतिविधियों पर रोक और वैध खनन को बढ़ावा देना राज्य सरकार की नीति : अग्रवाल

Newsdesk

आगरा के निकट सड़क हादसे में चार मरे, नौ घायल

Newsdesk

विस्फोट में टीएमसी नेता सहित दो लोगों की मौत

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy