25.5 C
Jabalpur
December 2, 2022
सी टाइम्स
प्रादेशिक वीडियो

भेड़ाघाट थाना अंतर्गत हुई आदित्य भारद्वाज के हत्या के मामले में पुलिस के हाथ अब तक खाली

जबलपुर के भेड़ाघाट थाना अंतर्गत ऑप्शन रिसोर्ट के पास नेशनल हाईवे 12 में हुई आदित्य भारद्वाज के हत्या के मामले में पुलिस के हाथ अब तक खाली है। नेशनल हाईवे में किनारे पड़ी युवक के जघन्य हत्या के मामले में आरोपी एक तरफ खुलेआम घूम रहा है। तो वही पुलिस के हाथ अब तक आरोपी के गिरेवान तक नहीं पहुंच पाए है। पुलिस का कहना है कि सीसीटीवी कैमरों के साथ संदिग्ध आरोपियों से इस मामले में लगातार पूछताछ चल रही है और आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वही अब परिजनों ने भी पुलिस की जाच पर सवाल खड़े करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा मिश्रा से मदद की गुहार लगाई है। दरअसल 13 नवंबर की दरमियानी रात शहपुरा थाना क्षेत्र गंज कटंगा निवासी आदित्य राज भारद्वाज बरगी स्थित वीपी सिंह के क्रेशर में मेनेजमेंट का कार्य करता है। आदित्य राज भारद्वाज 13 नवंबर की सुवह घर से काम के लिए निकला था। लेकिन रात करीब 11 बजे तक घर न पहुंचने और मोबाइल बंद होने की स्थिति में आदित्य के पिता गुरुदयाल भारद्वाज सहित आस पड़ोस के लोग उसकी तलाश में निकले थे। तभी परिजनों ने देखा कि ऑप्शन होटल के पास आदित्य को लहूलुहान हालत में पड़ा हुआ था। तभी पिता ने देखा की आदित्य की सांसे चल रहीं थीं, लेकिन वह कुछ ठीक से बोल नही पा रहा था। अस्पताल जाते समय आदित्य ने पिता को बताया कि उसको 4 लोगों ने मिलकर मारा है लेकिन वह किसी का नाम नहीं बता पा रहा था। जिसके बाद परिजनों उसे ईलाज के लिए एक निजी अस्पताल लेकर पहुंचे जहां देर रात इलाज के दौरान आदित्य की मौत हो गई। घटना की सूचना लगते ही भेड़ाघाट टीआई शफीक खान मरचुरी पहुँचे। जहां परिजनों के बयान लिए गए। परिजनों के बयान के आधार पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी। लेकिन पूरे मामले में 9 दिन बीत जाने के बाद अब भी खाली है। परिजनों ने पुलिस को बताया कि करीब 2 साल पहले भी आदित्य पर उसकी गर्लफ्रेंड के दोस्तों ने चाकू से प्राणघातक हमला किया था। हमले के बाद से आदित्य ने लड़की सहित अन्य लोगों से दूरी बना ली थी। लेकिन क्षेत्र में आदित्य की या परिवार की किसी से ऐसी रंजिश नहीं थी, जिसके लिए हत्या करनी पड़े। परिजनों ने पुलिस को बताया कि वह रात करीब 10 बजे से आदित्य को लगातार कॉल रहे थे, लेकिन फोन लग ही नहीं रहा था। आदित्य की हत्या करने वाले मोबाइल अपने साथ ले गए हैं। मोबाइल मिलने से आरोपी सहित हत्या के राज से पर्दा उठ सकेगा।

अन्य ख़बरें

मप्र के 34 फीसदी घरों तक पहुंचा नल का जल

Newsdesk

प्रधानाध्यापक की गोली मारकर हत्या

Newsdesk

दिल्ली : सदर बाजार इलाके में एक सिनेमा के बाहर खड़ी कारों और बाइकों में लगी भीषण आग

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy