Seetimes
Health & Science National

महाराष्ट्र में कोरोना के नए मामलों और मौत के आंकड़ों में गिरावट

मुंबई, 27 अप्रैल (आईएएनएस)| महाराष्ट्र के लिए एक राहत की खबर सामने आई है। राज्य में सोमवार को पिछले कुछ दिनों की तुलना में कोरोनावायरस से होने वाली मौतों के मामले कुछ कम हुए हैं। हालांकि राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या 43 लाख से अधिक हो चुकी है और यहां संक्रमण की वजह से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या भी 65,000 से पार हो चुकी है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने यहां सोमवार को यह जानकारी दी।

राज्य में जहां रविवार को सबसे अधिक 832 मौत हुई थी, वहीं सोमवार को इस आंकड़े में कमी देखी गई और प्रदेश में 524 लोगों की मौत हुई। प्रदेश में अब तक 65,284 लोग कोरोना की वजह से जान गंवा चुके हैं, जो कि देश में सबसे अधिक संख्या है।

यहां सोमवार को पिछले एक पखवाड़े के दौरान सामने आने वाले नए कोरोना मामलों में भी गिरावट देखी गई है और सोमवार को यहां 50,000 से कम मामले दर्ज किए गए। राज्य में 18 अप्रैल को रिकॉर्ड 68,631 कोरोना मामले सामने आए थे। वहीं सोमवार को 48,700 मामले दर्ज किए गए, जिसके बाद प्रदेश में कुल कोरोना मामलों की संख्या 43,43,727 हो चुकी है।

मुंबई में भी हालात पिछले कुछ समय के मुकाबले सोमवार को कुछ सुधरे हुए दिखाई दिए। रविवार को जहां 5,498 कोरोना मामले सामने आए थे, वहीं सोमवार को 3,840 मामले दर्ज किए गए। संक्रमणों में गिरावट के साथ मुंबई की स्थिति में सुधार जरूर देखा गया है, मगर यहां अभी तक सामने आए मामलों की संख्या 631,484 तक पहुंच चुकी है।

मुंबई की एक दिन में कोरोना से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 71 दर्ज की गई, जिसके बाद देश की वाणिज्यिक राजधानी में कुल मौतों की संख्या 12,861 हो गई है।

राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या अब 698,354 से घटकर 674,770 रह गई है।

यहां सोमवार को 71,736 लोग पूरी तरह से ठीक होकर अपने घर लौट गए, जिसके बाद यहां अब तक ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या 36,01,796 हो गई है। यहां रिकवरी दर रविवार को 82.19 प्रतिशत से बढ़कर 82.92 प्रतिशत हो गई है।

अन्य ख़बरें

भारत में एक दिन में 41 हजार से ज्यादा कोविड मामले और 593 मौतें

Newsdesk

मेडिकल सीटों में ओबीसी, ईडब्ल्यूएस के लिए आरक्षण उप्र चुनाव में मदद करेगा : भाजपा

Newsdesk

एनआईए ने हिजबुल नार्को टेरर केस में पूरक आरोप पत्र दाखिल किया

Newsdesk

Leave a Reply