Seetimes
Crime World

‘बांग्लादेश में अस्थिरता पैदा करने में शामिल आतंकी’

ढाका, 29 अप्रैल (आईएएनएस)| बांग्लादेश के गृह मंत्री असदुज्जमां खान कमाल ने कहा कि सरकार ने गौर फरमाया है कि कुछ चिन्हित आतंकी और उग्रवादी राजनीति में शामिल होकर देश में अस्थिर स्थिति पैदा कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि खुफिया एजेंसियों द्वारा हिफाजत-ए-इस्लाम बांग्लादेश के फाइनेंसरों की पहचान करने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने बुधवार दोपहर को आईएएनएस को बताया, “पैसा कहां से आ रहा है, किसके खाते में जा रहा है। इन सभी बातों का पता लगाया जा रहा है।”

गृह मंत्री ने आगे कहा, “खुफिया एजेंसियां उन लोगों की पहचान करने की दिशा में काम कर रही हैं, जो हिफाजत को वित्तीय सहायता प्रदान करते हैं। हमने उनके बारे में पहले से ही कुछ जानकारियां हासिल कर ली हैं, लेकिन अभी हम इस पर बात नहीं करना चाहेंगे। जांच खत्म होने के बाद हम सभी को सूचित करेंगे।”

कमाल कहते हैं, “हमारी जांच के अनुसार हिफाजत-ए-इस्लाम ने साल 2013 में शापला चत्तर में अराजकता की स्थिति को पुन: दोहराने के उद्देश्य से हिंसा की। निश्चित रूप से उनकी राजनीतिक महत्वाकांक्षा रही है। हमारी कानून प्रवर्तन एजेंसियां इस संगठन की विभिन्न गुप्त गतिविधियों की टटोल रही हैं।”

उग्रवादी संगठन हिफाजत अमीर के प्रमुख जुनायद बाबूनागारी एक मामले का पहले से ही आरोपी है, लेकिन अभी तक उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

कमाल कहते हैं, “साल 2013 में बाबूनागरी के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया था। उसे उस वक्त गिरफ्तार भी किया गया था, लेकिन बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया था।”

गृह मंत्री ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि अपराध को अंजाम देने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अवश्य ही की जाएगी।

कमाल ने आखिर में इस बात का भी उल्लेख किया कि हिफाजत—ए—इस्लाम के संविधान में कहा गया है कि वे किसी भी राजनीतिक गतिविधियों में शामिल नहीं रहेंगे और राजनीति से दूर रहेंगे।

अन्य ख़बरें

गुरुग्राम में ‘कैब’ में सवार होकर महिला से दुष्कर्म

Newsdesk

बिहार के मुजफ्फरपुर में प्रेम प्रसंग को लेकर युवक की पीट-पीटकर हत्या

Newsdesk

अफगानिस्तान के हालात के लिए पाक को जिम्मेदार ठहराना दुर्भाग्यपूर्ण : इमरान

Newsdesk

Leave a Reply