Seetimes
World

गाजा पर रॉकेट से हमला, 20 लोग मारे गए

यरुशलम, 11 मई (आईएएनएस)| हाल के दिनों में यरुशलम में हुए तनाव में गाजा पट्टी में आतंकवादियों ने घातक मोड़ ले लिया और इसरायल ने अधिकारियों के अनुसारस रॉकेट से हुए हमलों में कम से कम 20 लोगों को मार डाला है। डीपीए समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक फिलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मारे गए 20 लोगों में नौ बच्चे थे। इसके अलावा 65 से अधिक लोग घायल भी हुए हैं। लेकिन शुरू में यह स्पष्ट नहीं था कि किन परिस्थितियों में लोगों की मौत हुई।

इजरायली सेना ने ट्विटर पर लिखा कि उसने हवाई हमले में तीन हमास कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया और मार दिया।

इजरायल ने येरुशलम के निकट ही बेत शेमेश के साथ-साथ बेत शेमेश की ओर से दागे गए रॉकेटों के एक बैराज के जवाब में तटीय परिक्षेत्र पर हवाई हमले किए।

सेना के प्रवक्ता ने कहा कि आखिरी बार शहर में रॉकेट अलर्ट की आवाज 2014 में आई थी।

इस बीच, इसरायल की सेना ने कहा कि गाजा पट्टी से सोमवार को इसरायल की ओर से आतंकवादी फिलिस्तीनी समूहों द्वारा 150 से अधिक रॉकेट दागे गए। दर्जनों इसरायल के आयरन डोम रक्षा प्रणाली द्वारा बाधित किए गए थे।

इसरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कसम खाई कि इसरायल ‘बड़ी ताकत से जवाब देगा।’

उन्होंने कहा,”आज शाम, यरूशलम दिवस पर, गाजा में आतंकवादी संगठनों ने एक लाल रेखा को पार किया है और यरूशलम के बाहरी इलाके में मिसाइलों से हमला किया है।”

हाल के दिनों में यहूदियों को टेम्पल माउंट और यहूदियों को नोबल सेंक्च ुरी के नाम से जाने वाले इसराइली सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पें हुईं।

फिलिस्तीनी बचावकर्मियों ने सोमवार को कहा कि 300 से अधिक लोग घायल हुए हैं, जबकि इसरायली पुलिस का कहना है कि दो दर्जन अधिकारियों को चोट लगी थी।

इस्लामवादी हमास आंदोलन ने सोमवार रात तक येरुशलम में शेख जर्राह के पड़ोस से और पवित्र स्थान में बसने वालों और पुलिस को वापस लेने के लिए एक अल्टीमेटम जारी किया था। इसके समाप्त होने के कुछ समय बाद, बड़े पैमाने पर रॉकेट हमलों की रिपोर्ट शुरू हुई।

हमास के एक प्रवक्ता ने कहा कि रॉकेट इसरायल के लिए एक ‘संदेश’ और ‘पवित्र शहर के खिलाफ अपने अपराधों और आक्रामकता की प्रतिक्रिया’ थे।

गाजा में इस्लामिक जिहाद समूह ने भी जिम्मेदारी का दावा किया है।

एक इसरायली सेना के प्रवक्ता ने कहा कि कई फिलिस्तीनी संगठन हमलों में शामिल थे, लेकिन हमास को दोषी ठहराया गया है। उन्होंने कहा कि हमास को भारी नुकसान पहुंचाने का इरादा इसरायल का था।

पश्चिम बैंक और यरुशलम के अरब बहुल पूर्वी हिस्से में स्थिति रमजान के उपवास महीने की शुरूआत से तनावपूर्ण रही है, जो इस सप्ताह के अंत में समाप्त होने वाले हैं।

अन्य ख़बरें

अफगानिस्तान में 130 तालिबानी आतंकियों ने किया आत्मसमर्पण

Newsdesk

न्यूजीलैंड पुलिस ने गिरोहों, अपराधियों से 35.3 करोड़ डॉलर जब्त किए

Newsdesk

पाकिस्तान कोविड के कुल मामले 951,865

Newsdesk

Leave a Reply