Seetimes
Crime National

ब्लैक फंगस : इंजेक्शन की कालाबाजारी के 2 आरोपी गिरफ्तार, अस्पताल सुपरवाइजर भी शामिल

नोएडा, 24 मई (आईएएनएस)| कोरोना की दूसरी लहर में अब ब्लैक फंगस की दवाइयों की कालाबाजारी के मामले सामने आने लगे हैं। ताजा मामला नोएडा से सामने आया है, जहां ब्लैक फंगस की कालाबाजारी करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, इसमें अपोलो फार्मेसी के सुपरवाइजर का नाम भी शामिल है। पुलिस विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, नोएडा थाना सेक्टर-58 पुलिस ने अपोलो अस्पताल में सुपरवाइजर के द्वारा आवश्यक इंजेक्शन ब्लैक फंगस की बीमारी में काम आने वाली दवा की कालाबाजारी करने वाले 2 आरोपियों को सेक्टर-62 फोर्टिस अस्पताल के पास से गिरफ्तार किए हैं। इनके कब्जे से कब्जे से 2 इंजेक्शन बरामद किए गए हैं।

यह इंजेक्शन आरोपित अनुराग जो की अपोलो फार्मेसी में सुपरवाइजर के पद पर काम करता है वो अपनी जान पहचान की फार्मेसियों से तथा अन्य माध्यम से कम कीमत पर खरीद कर लाता था।

पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने बताया, “कोविड-19 के उपचार में काम आने वाले अति आवश्यक इंजेक्शनो रेमडेसिविर व एम्फोटेरिसिन बी आइमुलिशन 50 एमजी/10 एमजी महंगे दामों में अस्पतालों के आसपास बीमार व्यक्तियों के परिजनों से संपर्क करके उन्हें बेच देते थे।”

उन्होंने कहा, “पहले सैम्पल के तौर पर एक या दो इंजेक्शन दिखाते हैं और दे देते हैं। बाद में सौदा होने पर सारे इंजेक्शन मुंहमांगी कीमत पर बीमार व्यक्तियों के परिजनों को बेच देते हैं, आज भी हम इंजेक्शन का सैम्पल लेकर फोर्टिस अस्पताल के पास आये थे।”

अन्य ख़बरें

नीतीश ने ‘कर दिखाएगा बिहार’ का किया अगाज, 6 महीने में 6 करोड़ लगाए जाएंगे टीके

Newsdesk

एक दिन में रिकॉर्डतोड़ वैक्सीनेशन पर प्रधानमंत्री बोले : वेल डन इंडिया

Newsdesk

दिल्ली में 4 नए सरकारी स्कूलों का निर्माण, जुलाई तक बनेंगे नए क्लासरूम

Newsdesk

Leave a Reply