Seetimes
Health & Science

अपने कर्मचारियों और किरायेदारों के निशुल्क टीकाकरण की योजना बना रहा डीएलएफ

नई दिल्ली, 5 जून (आईएएनएस)| डीएलएफ मॉल्स ने बायो-सेफ रिटेल स्पेस की नई अवधारणा की शुरूआत करते हुए न केवल अपने कर्मचारियों, बल्कि अपने किरायेदारों को भी टीका लगाने के लिए एक अभियान शुरू किया है।

नई अवधारणा में टीकाकरण वाले फ्रंट और बैक-एंड कर्मचारियों के साथ स्वच्छ और जैव-सुरक्षित क्षेत्रों की परिकल्पना की गई है, जिससे निश्चित तौर पर उपभोक्ताओं में विश्वास पैदा होगा।

तदनुसार, कंपनी भारत के विभिन्न इलाकों में स्थित अपनी 10 संपत्तियों में लगभग 10,000 कर्मचारियों, सहयोगियों और भागीदारों का नि: शुल्क टीकाकरण की योजना बना रही है।

इसी तरह के अभियान विमानन, आतिथ्य और लोगों के अधिक संपर्क में आने वाली सेवाओं जैसे सैलून जैसे क्षेत्रों में देखे जा रहे हैं।

डीएलएफ मॉल्स की कार्यकारी निदेशक पुष्पा बेक्टर ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, जब अपने कर्मचारियों और उनकी भलाई की बात आती है तो डीएलएफ ने नेतृत्व की स्थिति संभाली है। हम मानते हैं कि हमारे कर्मचारी फ्रंटलाइन वर्कर्स के समान हैं और वे सभी सुरक्षा के पात्र हैं।

पुष्पा ने कहा, वर्तमान अभियान स्वच्छता और स्वच्छ खुदरा स्थान प्रदान करने में हमारे चल रहे प्रयासों को पूरक बनाता है।

हाल ही में, केंद्र ने एक उदार टीकाकरण चरण की अनुमति दी है, जिसके तहत निजी संस्थाएं बाजार विनियमित कीमतों पर टीकों की खरीद कर सकती हैं। इन टीकों की खुराक को कंपनी के कर्मचारियों को चिकित्सकीय देखरेख में दिया जा सकता है।

पुष्पा बेक्टर ने कहा कि यह अभियान उपभोक्ताओं में जैव सुरक्षा की भावना पैदा करने के अलावा कर्मचारियों के अपने कार्यक्षेत्र में विश्वास सुनिश्चित करेगा।

कंपनी भुगतान के आधार पर आम जनता के लिए अपनी संपत्तियों पर ड्राइव-थ्रू टीकाकरण सुविधाएं भी शुरू करेगी।

नवीनतम कोविड लहर ने राज्य सरकारों को स्थानीय लॉकडाउन और यात्रा प्रतिबंधों को लागू करने के लिए मजबूर किया है, जिससे आर्थिक गतिविधियां धीमी पड़ गई हैं। इसका प्रभाव विशेष रूप से लोगों के अधिक संपर्क में आने की संभावना वाले क्षेत्र जैसे सेवा उद्योग (सर्विस इंडस्ट्री), संगठित खुदरा, विमानन और आतिथ्य उद्योग शामिल हैं।

हालांकि, संक्रमण दर में गिरावट और त्वरित टीकाकरण अभियान ने अब अनलॉक प्रक्रिया की शुरूआत में एक आशावाद को भी जन्म दिया है।

भविष्य में रिकवरी की संभावनाओं पर, बेक्टर ने कहा कि स्थानीय लॉकडाउन के हटने के बाद भी इस साल भी रिबाउंड (महमारी के फिर से प्रतिघात करने की उम्मीद) की संभावना है।

उन्होंने कहा, अब भी उन शहरों में बिक्री मजबूत है, जहां लॉकडाउन को चौंका देने वाले तरीके से हटा लिया गया है। मांग में बढ़ोतरी, मौसमी और मजबूत उपभोक्ता भावनाओं से पिछले साल की तरह ही रिबाउंड के ट्रिगर यानी फिर से बढ़ने की उम्मीद है।

बेक्टर के अनुसार, अगस्त के मध्य तक रिकवरी की प्रक्रिया में तेजी आनी शुरू हो जानी चाहिए, जब मेट्रो शहरों में आबादी के एक बड़े हिस्से को पूरी तरह से टीका लगाया जा चुका होगा।

उन्होंने कहा, अक्टूबर तक आर्थिक गतिविधियों के सामान्य होने की उम्मीद है, जिसमें रिकवरी की गति बढ़ रही है। हमने वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही में 85 प्रतिशत प्रति-कोविड बिक्री के निशान को छुआ था। अब भी इसी तरह की प्रवृत्ति की उम्मीद है।

वर्तमान में, डीएलएफ के पास देश भर में 10 खुदरा संपत्तियां हैं।

अन्य ख़बरें

कोविड 19: दिल्ली में 25 फीसदी युवा हो चुके वैक्सीनेट

Newsdesk

उत्तर प्रदेश में कोवैक्सीन ट्रायल के दौरान 2 साल की बच्ची को दी गई वैक्सीन

Newsdesk

भारत में 24 घंटे में 54 हजार से ज्यादा कोविड के नए मामले सामने आए

Newsdesk

Leave a Reply