Seetimes
World

बाइडन ने व्हाइट हाउस में अफगान नेताओं से मुलाकात की

वाशिंगटन, 26 जून (आईएएनएस)| अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने युद्धग्रस्त देश में नाजुक सुरक्षा स्थिति के बीच व्हाइट हाउस में दौरे पर आए अफगान समकक्ष मोहम्मद अशरफ गनी और राष्ट्रीय सुलह के लिए उच्च परिषद के अध्यक्ष अब्दुल्ला अब्दुल्ला से मुलाकात की। बाइडन ने शुक्रवार को बैठक की शुरूआत में कहा कि “हमारे सैनिक भले ही जा रहे हों लेकिन अफगानिस्तान के लिए समर्थन समाप्त नहीं हो रहा है।”

उन्होंने कहा, “अफगानों को अपना भविष्य तय करना होगा, मूर्खतापूर्ण हिंसा को रोकना होगा।”

अपनी ओर से, गनी ने “उन 2,448 अमेरिकियों को श्रद्धांजलि अर्पित की, जिन्होंने अफगानिस्तान में बलिदान दिया। साथ ही अन्य सैनिकों की सराहना की।”

उन्होंने कहा कि “बाइडन का निर्णय ऐतिहासिक रहा है। उन्होंने सभी को पुनर्गणना और पुनर्विचार करने के लिए मजबूर किया है। हम यहां इसका सम्मान करने और इसका समर्थन करने के लिए हैं।”

गनी ने आगे कहा, “हम अपने संबंधों के एक नए अध्याय में प्रवेश कर रहे हैं जहां अमेरिका के साथ साझेदारी सैन्य नहीं, बल्कि हमारे आपसी हित के संबंध में व्यापक होगी और हम बहुत उत्साहित और संतुष्ट हैं कि यह साझेदारी हो रही है।”

सुरक्षा स्थिति के बारे में, गनी ने कहा कि शुक्रवार को अफगान रक्षा और सुरक्षा बलों ने दक्षिण और उत्तर दोनों में छह जिलों को वापस ले लिया है।

“यह हमारे ²ढ़ संकल्प को दिखा रहा है।”

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, दोनों अफगान नेताओं ने इससे पहले हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी और रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन से भी मुलाकात की थी।

बयान के अनुसार, बाइडन ने अगले साल अफगान सेना के लिए 3.3 अरब डॉलर से ज्यादा की सुरक्षा सहायता का अनुरोध किया और वित्तीय सहायता के अन्य रूप भी जारी रहेंगे।

1 मई से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद से तालिबान आतंकवादी सरकारी बलों के खिलाफ भारी लड़ाई जारी रखे हुए हैं।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद के अनुसार, तालिबान ने पिछले एक महीने में 70 से ज्यादा जिलों पर कब्जा कर लिया है।

ताजा घटनाक्रम में उन्होंने बुधवार को बदख्शां प्रांत के खाश जिले पर कब्जा कर लिया।

जमीन पर गंभीर स्थिति के बावजूद, पेंटागन ने इस सप्ताह की शुरूआत में कहा था कि वह अभी भी बाइडन द्वारा निर्धारित सितंबर की समय सीमा के लिए प्रतिबद्ध है।

बाइडन ने अप्रैल में घोषणा की थी कि सभी अमेरिकी सैनिक 11 सितंबर, 9/11 हमले की 20वीं बरसी से पहले अफगानिस्तान छोड़ देंगे।

एसोसिएटेड प्रेस ने गुरुवार को बताया कि अमेरिकी सेना का मुख्य हिस्सा अगले दो हफ्तों में अपनी वापसी पूरी कर लेगा और लगभग 650 सैनिकों के अफगानिस्तान में राजनयिकों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए रहने की उम्मीद है।

अन्य ख़बरें

अफगानिस्तान के हालात के लिए पाक को जिम्मेदार ठहराना दुर्भाग्यपूर्ण : इमरान

Newsdesk

म्यांमार में बाढ़ से हजारों लोग हुए प्रभावित

Newsdesk

पाक में दूसरे दिन 4,000 से अधिक नए कोविड मामले दर्ज किए

Newsdesk

Leave a Reply