Seetimes
National

राम के बिना अयोध्या. अयोध्या नहीं है: राष्ट्रपति कोविंद

अयोध्या, 29 अगस्त (आईएएनएस)| राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को कहा कि राम के बिना अयोध्या अयोध्या नहीं है। अयोध्या के मंदिर शहर का दौरा करने वाले राष्ट्रपति ने रामायण सम्मेलन का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक और धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यह आयोजन बहुत महत्वपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि ‘राम राज्य’ में ना तो भेदभाव था और ना ही सजा का कानून। ‘राम चरित्रमानस की पंक्तियां आशा देती हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “अयोध्या वहीं है जहां राम हैं। भगवान राम इस शहर में स्थायी रूप से निवास करते हैं और इसलिए, सही मायने में, यह स्थान अयोध्या है।”

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने बाद में ट्विटर पर लिखा, “राम कथा की लोकप्रियता न केवल भारत में बल्कि दुनिया भर में है। राम कथा के कई पठनीय रूप हैं, जिनमें उत्तर भारत में गोस्वामी तुलसीदास के राम चरित्रमानस, भारत के पूर्वी भाग में कृतिवास रामायण, दक्षिण में कम्बन रामायण शामिल हैं।”

“मैं आप सभी के बीच यहां आकर खुश हूं। मैं तो समझता हूं कि मेरे परिवार में जब मेरे माता-पिता और बुजुर्गों ने मेरा नाम-करण किया होगा तब उन सब में भी संभवत: रामकथा और प्रभु राम के प्रति वही श्रद्धा और अनुराग का भाव रहा होगा जो सामान्य लोकमानस में देखा जाता है।”

राष्ट्रपति ने कॉन्क्लेव शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी टीम को भी बधाई दी।

अयोध्या अनुसंधान संस्थान द्वारा दुनिया भर से भगवान राम से संबंधित पठनीय सामग्री का संकलन किया जा रहा है।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा, और केंद्रीय रेल और कपड़ा राज्य मंत्री दर्शन विक्रम जरदोश भी इस मौके पर उपस्थित थे।

अन्य ख़बरें

लखीमपुर हिंसा : किसान संगठनों का सोमवार को 6 घंटे का ‘रेल रोको’ आंदोलन का आह्वान

Newsdesk

गुरुग्राम फ्लाईओवर से 2 बाइक सवार गिरे, एक की मौत

Newsdesk

बांग्लादेश हिंसा : बंगाल के सभी सीमावर्ती जिलों में इंटेल अलर्ट

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy