Seetimes
Headlines Health & Science World

यूके में कोरोनावायरस के 32,181 मामले

लंदन, 1 सितम्बर (आईएएनएस)| ब्रिटेन में एक और 32,181 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं, जिससे देश में कोरोना वायरस के मामलों की कुल संख्या 6,789,581 हो गई है। यें मंगलवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों से सामने आया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, देश ने और 50 कोरोनावायरस से संबंधित मौतों की भी सूचना दी। ब्रिटेन में अब कोरोनावायरस से होने वाली मौतों की कुल संख्या 132,535 हो गई है। इन आंकड़ों में केवल उन लोगों की मौत शामिल है, जिनकी मौत उनके पहले पॉजिटिव परीक्षण के 28 दिनों के भीतर हुई थी।

नवीनतम डेटा तब आया जब टीकाकरण और टीकाकरण पर संयुक्त समिति (जेसीवीआई) के विशेषज्ञ वैक्सीन बूस्टर अभियान पर अंतिम निर्णय लेने की तैयारी कर रहे थे।

विशेषज्ञ इस पर भी मार्गदर्शन जारी करेंगे कि क्या ब्रिटिश सरकार 12 से 15 साल के बच्चों को टीके की पेशकश करेगी, जैसा कि कुछ अन्य देशों में है।

ब्रिटिश सरकार अगले महीने से अपेक्षित बूस्टर कार्यक्रम की तैयारी कर रही है, जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा कि विश्व स्तर पर टीकाकरण दर बढ़ाने के लिए इस तरह के शॉट्स में देरी होनी चाहिए।

इस महीने की शुरूआत में, डब्ल्यूएचओ ने अमीर और गरीब देशों के बीच खुराक वितरण में भारी असमानता को कम करने में मदद करने के लिए कोविड वैक्सीन बूस्टर शॉट्स पर रोक लगाने का आह्वान किया।

हालांकि, सोमवार को एक समाचार ब्रीफिंग के दौरान, यूरोप के लिए डब्ल्यूएचओ के क्षेत्रीय निदेशक हैंस क्लूज ने कहा कि बूस्टर शॉट सबसे कमजोर लोगों को सुरक्षित रखने का एक तरीका है।

क्लूज ने कहा, “वैक्सीन की तीसरी खुराक किसी ऐसे व्यक्ति से ली गई लक्जरी बूस्टर नहीं है जो अभी भी पहली बार का इंतजार कर रहा है। यह मूल रूप से सबसे कमजोर लोगों को सुरक्षित रखने का एक तरीका है।”

नवीनतम आंकड़ों से पता चलता है कि ब्रिटेन में 16 वर्ष और उससे ज्यादा आयु के 88 प्रतिशत से अधिक लोगों को टीके की पहली खुराक मिली है और 78 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने दोनों खुराक प्राप्त की हैं।

जीवन को सामान्य स्थिति में लाने के लिए, ब्रिटेन, चीन, जर्मनी, रूस और अमेरिका जैसे देश समय के साथ-साथ कोरोनावायरस के टीके लगाने के लिए दौड़ रहे हैं।

अन्य ख़बरें

लखीमपुर हिंसा : किसान संगठनों का सोमवार को 6 घंटे का ‘रेल रोको’ आंदोलन का आह्वान

Newsdesk

पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह गिरफ्तार, जमानत पर रिहा

Newsdesk

किस वजह से डेल्टा, डेल्टा प्लस कोविड वेरिएंट अधिक खतरनाक बने?

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy