Seetimes
Headlines National

सरकार ने बेची विजय माल्या-नीरव मोदी जैसे भगोड़ों की संपत्ति, जुटाए 13,109 करोड़ रुपए

नई दिल्ली ,21 दिसंबर (आरएनएस)।  बैंकों से कर्ज लेकर देश से फरार होने वाले भगोड़े कारोबारियों पर सरकार की सख्ती जारी है। देश के बैंको से हज़ारों करोड़ का लोन लेकर विदेश भागने वाले कारोबारी विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी से बैंको ने 13109 करोड़ रुपये रिकवर किए हैं। इस बात की जानकारी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में दी। उन्होंने बताया कि इन डिफाल्टरों की संपंतियों को बेचकर बैंकों ने ये रकम वसूल की है। प्रवर्तन निदेशालय ने एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत संपत्ति जब्त की। इस साल जुलाई में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के नेतृत्व में बैंकों के एक संघ ने विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे भगोड़े और डिफॉल्टरों से 792.11 करोड़ रुपये की वसूली की थी। वित्त मंत्री ने ये भी बताया कि पिछले सात साल में कुल 5.49 लाख करोड़ रुपये के फंसे कर्ज का समाधान कर लिया गया है।

विजय माल्या किंगफिशर एयरलाइंस से जुड़े 9,000 करोड़ रुपए से अधिक के बैंक लोन के डिफॉल्टर हैं। वो फिलहाल ब्रिटेन में हैं। भारत सरकार उन्हें वापस लाने के लिए पूरी कोशिश कर रही है। इस साल जुलाई में ब्रिटेन की एक अदालत ने विजय माल्या को दिवालिया घोषित किए जाने का आदेश जारी किया था। इससे भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अगुवाई में भारतीय बैंकों के समूह के लिये बंद पड़ी एयरलाइन किंगफिशर के ऊपर बकाये कर्ज की वसूली को लेकर उनकी सम्पत्तियों की जब्ती की कार्रवाई कराने का रास्ता साफ हो गया था।

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक का दो अरब डॉलर का बकाया है। मार्च 2019 में गिरफ्तारी के बाद से दक्षिण-पश्चिम लंदन के वैंड्सवर्थ जेल में वो बंद है और भारत में प्रत्यपर्ण के मुकदमे का सामना कर रहा है। नीरव मोदी को दिसंबर 2019 में भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया था। इस साल अगस्त में मुंबई की एक विशेष अदालत ने नीरव मोदी की कंपनियों की 500 करोड़ रुपये की संपत्तियों का कब्जा पंजाब नेशनल बैंक को देने की अनुमति दी थी।

नीरव मोदी के रिश्तेदार मेहुल चौकसी पर पीएनबी के साथ 14,000 करोड़ रुपये की लोन धोखाधड़ी करने का आरोप है। जुलाई 2021 में उसे डोमिनिका में एक अदालत ने जमानत दी थी और इलाज के लिए एंटीगा और बारबुडा की यात्रा करने की अनुमति दी थी। चोकसी भारत से फरार होने के बाद 2018 से एंटीगा में रह रहा है और वो वहां से लापता हो गया था। उसे अवैध एंट्री के चलते इस साल 23 मई को पड़ोसी देश डोमिनिका में गिरफ्तार किया गया था।

अन्य ख़बरें

मप्र में कोरोना संक्रमण के चलते स्कूलों को 31 के बाद खोलने पर संशय

Newsdesk

यूपी विधानसभा चुनाव : ‘सैफई महोत्सव’ पर योगी का तंज

Newsdesk

पिछले 3 महीनों में लगभग 30 हजार बिटकॉइन करोड़पतियों का हो गया सफाया

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy