30.3 C
Jabalpur
June 29, 2022
Seetimes
National

मायावती ने कानपुर के बवाल को बताया पुलिस और खुफिया तंत्र की विफलता

लखनऊ, 4 जून (आईएएनएस)| बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कानपुर में हुए बवाल पर कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा कि जुमे की नमाज के बाद राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की शहर में मौजूदगी के दौरान शुक्रवार को माहौल बिगाड़ने के प्रयास पुलिस और खुफिया तंत्र की विफलता है।

बता दें कि इससे पहले कानपुर में हुई हिंसा पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने हिंसा के लिए भाजपा प्रवक्ता नुपूर शर्मा को दोषी ठहराते हुए गिरफ्तारी की मांग की और पुलिस और इंटेलिजेंस पर भी सवाल उठाए थे।

बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा कि राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री जी के यूपी दौरे के दौरान ही कानपुर में दंगा व हिंसा भड़कना अति-दु:खद, दुर्भाग्यपूर्ण व चिन्ताजनक तथा पुलिस खुफिया तंत्र की भी विफलता का द्योतक है। सरकार को समझना होगा कि शान्ति व्यवस्था के अभाव में प्रदेश में निवेश व यहां का विकास कैसे संभव?

मायावती ने कहा कि सरकार इस घटना की धर्म, जाति व दलगत राजनीति से ऊपर उठकर स्वतंत्र व निष्पक्ष उच्च-स्तरीय जाँच कराकर दोषियों के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करे ताकि ऐसी घटना आगे न हो। साथ ही, लोगों से शान्ति व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए उत्तेजक भाषणों आदि से बचने की भी अपील की है।

ज्ञात हो कि भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा के कथित पैंगबर साहब पर विवादित टिप्पणी के बाद शुक्रवार दोपहर नमाज के बाद नई सड़क पर प्रदर्शन के बाद जमकर बवाल हुआ। पथराव कर कई गाड़ियां तोड़ दी गई पर फायरिंग के साथ बमबाजी भी हुई। पथराव में आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। बवाल की सूचना पर डीएम और संयुक्त पुलिस आयुक्त समेत भारी फोर्स मौके पर पहुंचा और पैदल मार्च करते हुए लोगों को समझाने का प्रयास किया। घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

अन्य ख़बरें

जुबैर के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को फिर से हालिस करने के लिए बेंगलुरू ले जाया जाएगा

Newsdesk

मुख्यमंत्री का सभी विभागों को निर्देश, 30 तक पूरा करें सौ दिन का लक्ष्य

Newsdesk

गुजरात: पिता ने कुल्हाड़ी से काटकर बेटे की हत्या की

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy