25.5 C
Jabalpur
December 2, 2022
सी टाइम्स
व्यापार

पंजाब एण्ड सिंध बैंक में कवि सम्मलेन का आयोजन

नई दिल्ली ,09 अक्टूबर। पंजाब एण्ड सिंध बैंक में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। यह आयोजन हिंदी पखवाड़ा समापन समारोह 2022 के उपलक्ष्य में बैंक के स्टाफ प्रशिक्षण महाविद्यालय, रोहिणी, नई दिल्ली में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता बैंक के कार्यकारी निदेशक कोल्लेगाल वो राघवेन्द्र ने की तथा बैंक के अन्य उच्चाधिकारी भी इस दौरान उपस्थित रहे। कवि सम्मलेन में काव्य पाठ के लिए राष्ट्रीय स्तर के कवियों को आमंत्रित किया गया था इनमें डॉ रसिक गुप्ता, लक्ष्मी शंकर वाजपेयी, कमलेश भट्ट कमल, श्रीमती सोनाली बोस तथा सरदार मनजीत सिंह शामिल रहे। मंच का संचालन श्रीमती सोनाली बोस ने किया। कवियों ने अपने-अपने संबोधन में पंजाब एण्ड सिंध बैंक को इस प्रकार के आयोजन के लिए आभार व्यक्त किया तथा बैंक को अपने सांस्कृतिक कार्यक्रमों को जारी रखने की गुजारिश की।
अपने अध्यक्षीय संबोधन में कोल्लेगाल ने सर्वप्रथम उपस्थित लोगों को नवरात्रि की शुभकामनाएं दी। उन्होंने आगे कहा कि हिंदी, विश्वभर में भारत का प्रतिनिधित्व करती है। विदेशों में बसे भारतीयों को आपस में जोडऩे के साथ-साथ हिंदी, राष्ट्रीय अखंडता को मजबूत करती है। अध्यक्ष महोदय ने कहा कि केवल आगामी दशक ही नहीं बल्कि आगामी युग भी भारत का ही होने वाला है और इस स्थिति में राजभाषा हिंदी का महत्व और भी बढ़ जाता है। बैंकों में हिंदी के प्रयोग के विषय में राघवेन्द्र ने बताया कि विगत कुछ वर्षों में बैंकों में हिंदी में कार्य का प्रतिशत बढ़ा है और बैंकों में अब कार्मिकों के मध्य हिंदी में कार्य करने की स्वीकार्यता बढ़ी है। संबोधन पश्चात, पखवाड़े के दौरान आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजयी प्रतिभागियों को अध्यक्ष महोदय तथा मुख्य राजभाषा अधिकारी कामेश सेठी के कर कमलों से पुरस्कृत किया गया। अध्यक्ष महोदय ने विजयी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं दी।
कार्यक्रम के अंत में महाप्रबंधक सह मुख्य राजभाषा अधिकारी कामेश सेठी ने उपस्थित लोगों का आभार व्यक्त किया। अपने धन्यवाद ज्ञापन में सेठी ने रेखांकित किया कि हिंदी पखवाड़ा समापन समारोह 2022 को स्मरणीय बनाने के उद्देश्य से बैंक में इस कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।

अन्य ख़बरें

नवंबर में जीएसटी कलेक्शन पिछले साल की तुलना में 11 फीसदी बढ़ कर 1,45,867 करोड हुआ

Newsdesk

गेमिंग प्लेटफॉर्म एमपीएल ने 10 लाख से अधिक यूजर अकाउंट पर लगाया प्रतिबंध

Newsdesk

अक्टूबर में 175 करोड़ से ज्यादा आधार-आधारित लेनदेन हुए

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy