Seetimes
Health & Science National

ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे गुरुग्राम में छोटे अस्पताल


गुरुग्राम, 30 अप्रैल (आईएएनएस)
| गुरुग्राम जिला प्रशासन द्वारा जिला अस्पताल को ऑक्सीजन की आपूर्ति प्रदान करने के लिए एक समर्पित हेल्पलाइन जारी किए जाने के बावजूद गुरुग्राम के कई छोटे अस्पतालों को ऑक्सीजन की कमी का सामना करना पड़ रहा है। स्थिति ऐसी है कि वे शुक्रवार को सुबह से कोरोनावायरस रोगियों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति को फिर से भरने के लिए संघर्ष करते दिखे।

कोविड के मामलों में बढ़ोत्तरी के बीच ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी के कारण सत्यम, उमा संजीवनी, उमाकल, आरवी, पुष्पांजलि, एलपीन, आर्यन, कथूरिया और एसपीईएस अस्पताल परेशान हैं और शिकायत की है कि कोई मदद उन तक नहीं पहुंची है।

एसपीईएस अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ भरत ने कहा, “लगभग 12 रोगी ऑक्सीजन बेड पर हैं। हमने ऑक्सीजन की कमी के बारे में स्थानीय अधिकारियों से संपर्क किया है और अपने ऑक्सीजन आपूर्ति हेल्पलाइन नंबर पर फोन किया है, लेकिन सब बेकार। हमें प्रशासन से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। 12 रोगियों का जीवन खतरे में है।”

गुरुग्राम के कथुरिया अस्पताल के निदेशक डॉ एके कथूरिया ने कहा, “हमने ऑक्सीजन की आपूर्ति की कमी के कारण नए कोविड मरीज का भर्ती रोक दी है। हम किसी के जीवन को जोखिम में नहीं डाल सकते हैं। ऑक्सीजन संकट अपने सबसे खराब स्थिति में है। कोई भी मदद करने में सक्षम नहीं है।”

गुरुग्राम में गुरुवार को 5,042 नये कोरोना मामले और नौ मौतें दर्ज की गई।

प्रशासन के ूकोविडजीजीएन पोर्टल के अनुसार, 42 समर्पित कोविड केयर अस्पतालों में एक भी ऑक्सीजन बेड, आईसीयू और वेंटिलेटर उपलब्ध नहीं थे।

इस महीने घातक वायरस के कारण शहर में 50 से अधिक मौतें हुई हैं।

गुरुग्राम के डिप्टी कमिश्नर यश गर्ग ने कहा, “मैंने अधिकारियों को जिले के सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश दिए हैं।”

अन्य ख़बरें

नीतीश ने ‘कर दिखाएगा बिहार’ का किया अगाज, 6 महीने में 6 करोड़ लगाए जाएंगे टीके

Newsdesk

मप्र में एक दिन में 15 लाख टीके लगाकर रचा गया इतिहास

Newsdesk

एक दिन में रिकॉर्डतोड़ वैक्सीनेशन पर प्रधानमंत्री बोले : वेल डन इंडिया

Newsdesk

Leave a Reply