28.5 C
Jabalpur
August 16, 2022
Seetimes
राष्ट्रीय हेडलाइंस

अजमेर दरगाह दीवान ने की उदयपुर हत्याकांड की निंदा, कहा, ‘देश को तालिबानी कल्चर में नहीं ढलने देंगे’

जयपुर, 29 जून (आईएएनएस)| अजमेर दरगाह के दीवान सैयद जैनुल आबेदीन अली खान ने उदयपुर हत्याकांड की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा, “कोई भी धर्म मानवता के खिलाफ हिंसा को बढ़ावा नहीं देता। हम अपने देश को तालिबानी संस्कृति में नहीं ढलने देंगे। इस तरह की हरकत करने वाले ये लोग इस्लाम की बदनामी कर रहे हैं। धर्म की बदनामी होती है और देश की भी बदनामी होती है जो कि गलत है।”

“आरोपियों ने देश की गंगा जमुना तहजीब को चुनौती दी है। इस्लाम के नाम पर हिंसा और नफरत फैलाने का किसी को अधिकार नहीं है। दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए। सोशल मीडिया पर गैर-जिम्मेदाराना बयान देने वाले लोग देश को नुकसान पहुंचा रहे हैं।”

“कुछ अनैतिक दिमागों ने एक आदमी पर बेरहमी से हमला किया, जिसे इस्लामी दुनिया में एक दंडनीय पाप के रूप में स्वीकार किया जाता है। हजारों और लाखों तीर्थयात्री अजमेर गरीब नवाज की दरगाह और पुष्कर ब्रह्माजी के शहर पुष्कर जाते हैं। सनातन संस्कृति और सद्भाव हमारे देश की पहचान है। इन विचारों का पालन करके हम विश्व गुरु बन सकते हैं।”

अजमेर शहर काजी मौलाना तौसीफ अहमद सिद्दीकी ने भी उदयपुर की घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि यह घटना दुखद और असहनीय है। देश के लोगों को चाहिए कि वे अपनी भावनाओं को नियंत्रित करने और शांति बनाए रखने में सहयोग करें। कोई भी धर्म ऐसी हिंसा नहीं सिखाता। जिन लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया उनका कोई धर्म नहीं है।

अन्य ख़बरें

दिल्ली : बांग्लादेशी नागरिक दर्जन भर पासपोर्ट के साथ पकड़े गए

Newsdesk

आजादी के अमृत महोत्सव पर शहडोल संभाग के बच्चों के बस्ते का बोझ हुआ कम

Newsdesk

स्वतंत्रता दिवस पर 1,082 पुलिसकर्मियों को मिलेगा पदक, गृहमंत्रालय ने जारी की सूची

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy