15 C
Jabalpur
February 6, 2023
सी टाइम्स
प्रादेशिक राष्ट्रीय हेल्थ एंड साइंस

मप्र में कोरोना से निपटने की तैयारी चौकस, कई जगह खामियां आई सामने

भोपाल, 27 दिसंबर | चीन में कोरोना के नए वेरिएंट बीएफ-सात की दस्तक के बाद मध्य प्रदेश में भी देश के अन्य हिस्सों की तरह उपचार की व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया जा रहा है। वाकई में राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं के क्या हाल है, इसको जानने के लिए मॉक ड्रिल हुई और इस दौरान कई खामियां भी खुलकर सामने आ गईं।

राज्य में मंगलवार को मॉक ड्रिल के चलते अलग-अलग अस्पतालों की स्थिति का जायजा लिया गया और यह देखा गया कि कोरोना उपचार संबंधी बिस्तर, वेंटिलेटर, आईसीयू, मानव संसाधन, ऑक्सीजन संयंत्र और चिकित्सा उपकरणों सहित अन्य व्यवस्थाएं कितनी दुरुस्त है।इसके अलावा मरीजों को अस्पताल तक लाने और उन्हें भर्ती करने तक की प्रक्रिया की मॉक ड्रिल की गई।

राजधानी के प्रमुख अस्पताल जे पी अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट में खामी नजर आई। यहां पाया गया कि प्लांट पिछले कुछ समय से बंद है। इसके साथ ही बिजली की केबिल भी कटी मिली। इसके बाद प्लांट का सुधार कार्य षुरु कर दिया गया है। इसी तरह कोलार क्षेत्र के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का कोविड वार्ड की स्थिति ही बदल चुकी थी। वहां सामान्य मरीजों का इलाज हो रहा था। गुना में भी ऑक्सीजन प्लांट में खामी मिली। इतना ही नहीं कई जगह ऑक्सीजन का प्योरिटी लेवल भी कम पाया गया।

राज्य के अधिकांश हिस्सों से कोविड को लेकर पूर्व में बनाए गए वाडरें की स्थिति अच्छा पाए जाने पर सरकार ने राहत की सांस ली है, मगर कई स्थानों पर जो खामियां सामने आई है उन्हें दुरुस्त किया जाने लगा है।

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने राजधानी के कई अस्पतालों का निरीक्षण किया। मंत्री सारंग ने बताया कि कोरोना के संभावित खतरे को देखते हुए ऑक्सीजन जनरेशन, आईसीयू, पीआईसीयू, ऑक्सीजन बेड, दवाइयाँ आदि सभी व्यवस्थाएँ सुचारू रखने मॉक ड्रिल की गई। मध्यप्रदेश में कोरोना से संबंधित सभी तैयारियां चुस्त-दुरूस्त हैं।

उन्होंने बताया कि कोरोना की स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में हैं। पिछले चार दिनों से प्रदेश में एक भी कोरोना संक्रमित मरीज नहीं मिला है। प्रदेश में कोरोना मरीजों के उपचार के लिये लगभग 43 हजार बिस्तर उपलब्ध हैं। हमीदिया अस्पताल में लगभग 200 बिस्तर कोरोना मरीजों के लिये चिन्हित किये गये हैं।

कोरोना के नये वैरिएंट की आशंका के चलते चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग ने लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील करते हुए कहा कि वे 29 दिसंबर को अपना जन्म दिन वर्चुअल ही मनाएंगे। उन्होंने शुभचिंतकों से केवल वर्चुअली शुभकामनाएं देने की अपील की है।

अन्य ख़बरें

जबलपुर : रांझी क्षेत्र में रेल पटरी के किनारे स्थित झाड़ियों में एक युवक की खून से सनी लाश बरामद हुई

Newsdesk

जबलपुर : गोराबजार थाना अंतर्गत वकील के घर लाखों की चोरी होने का सनसनीखेज मामला सामने आया

Newsdesk

जबलपुर : होटल में समोसा खाने आए युवक ने सिगरेट देने से लेट हो जाने पर हवाई फायर कर दिया

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy