28.5 C
Jabalpur
August 16, 2022
Seetimes
राष्ट्रीय

मनीष सिसोदिया प्रतिदिन रात को दिनेश अरोड़ा के चीका पब में क्यों जाते थे : भाजपा

नई दिल्ली, 4 अगस्त( आरएनएस) । भारतीय जनता पार्टी के सांसद प्रवेश साहिब सिंह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया पर आरोप लगाते हुए कहा कि नई आबकारी नीति के तहत जिस तरह से भ्रष्टाचार किया गया है, इसमें एक मोटी रकम को केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने अपने नजदीकियों द्वारा कैश वसूलने का काम किया है। उन्होंने दिनेश अरोड़ा नाम के एक व्यक्ति को मनीष सिसोदिया का करीबी बताते हुए कहा कि चीका पब चलाने वाले दिनेश ने ही आबकारी नीति में किए गए भ्रष्टाचार का कैश वसूलने का काम करता था। उसके पब से ही मनीष सिसोदिया पैसों और सभी लेन-देन का काम करते थे।
प्रवेश साहिब सिंह ने  पूर्व विधायक एवं भाजपा नेता सरदार मनजिंदर सिंह सिरसा के साथ संयुक्त प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि नई आबकारी नीति में 2.5 फीसदी कमीशन को बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया गया जबकि सरकार को मिलने वाली एक्साइज ड्यूटी को एक फीसदी ही रखा गया ताकि मोटी कमाई हो सके। उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया खुद कहते थे कि एक साल में नई आबकारी नीति से 9000 करोड़ रुपये कलेक्शन का अनुमान था। इस हिसाब से  12 फ़ीसदी 1080 करोड़ रुपए की वसूली होती थी जिसमें से 6 फीसदी एल-1 होल्डर से दिनेश अरोड़ा वसूल कर केजरीवाल तक पहुंचाता था। इस तरह प्रति साल केजरीवाल सरकार 540 करोड़ रुपये की मोटी रकम वसूल करती थी जो सीधे तौर पर केजरीवाल और सिसोदिया के जेब में जाते थे। प्रवेश साहिब सिंह ने आरोप लगाया कि जब से सीबीआई की जांच नई आबकारी नीति के खिलाफ शुरू हुई है तब से दिनेश अरोड़ा देश छोड़कर फरार है और साथ ही उसने इंस्टाग्राम पर जो मनीष सिसोदिया के साथ फोटो लगाई है वह भी डिलीट कर चुका है। उन्होंने डिलीट किए हुए फोटो को दिखाते हुए कहा कि एल वन होल्डर को मिलने वाली लाइसेंस सिसोदिया अपने लोगों को दे दिया था जो सिर्फ तीन कम्पनियां मिलकर चलाती थी। ये तीनों कम्पनियां लगभग 3300 करोड़ का शराब बेचती थी। इन 3 कम्पनियों से मिलकर 200 करोड़ रुपये की रकम वसूल करते थे। श्री प्रवेश साहिब सिंह ने सिसोदिया से सवाल करते हुए कहा कि आखिर रात को चीका पब में मनीष सिसोदिया क्या करने जाते थे। साथ ही सीबीआई की जांच जब शुरू हुई तो फोटो डिलीट करने की नौबत क्यों आ गई?   मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि दिल्ली के चार बड़े शराब के थोक व्यापारी का सीधा संबंध उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से था और वे इस धंधे में सिसोदिया की मेहरबानी से आए। उन्होंने आरोप लगाया कि थोक व्यापारियों में से एक दिनेश अरोड़ा सिसोदिया के लिए शराब विक्रेताओं से उगाही करने का काम करता था। उन्होंने कहा कि अरोड़ा शराब के ठेकेदारों से कमीशन जुटाने का काम करता था और इस तरह से एकत्र करोड़ों रुपये की अवैध राशि को सिसोदिया और मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का काम करता था। श्री सिरसा ने आरोप लगाया कि सिसोदिया भी अरोड़ा से सीधा संपर्क में था, वे उनके गुड़गांव के चीका पब अक्सर उनके मिलने जाया करते थे।  मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि समीर मित्रो नाम के व्यक्ति के सहारे दिनेश अरोड़ा कैस वसूल कर अमित अरोड़ा के पंजाब बॉडी नाम के कंपनी के पास पैसा पहुंचाया जाता है जिसका कार्यालय गुड़गांव में है। इसका केएसजेएम के नाम से होल सेल का काम करता है। जीएमआर के डायरेक्टर और उनकी बेटी पार्टनर मिलकर काम करते हैं।

अन्य ख़बरें

दिल्ली : बांग्लादेशी नागरिक दर्जन भर पासपोर्ट के साथ पकड़े गए

Newsdesk

आजादी के अमृत महोत्सव पर शहडोल संभाग के बच्चों के बस्ते का बोझ हुआ कम

Newsdesk

स्वतंत्रता दिवस पर 1,082 पुलिसकर्मियों को मिलेगा पदक, गृहमंत्रालय ने जारी की सूची

Newsdesk

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy